Short Poem on Teachers Day in Hindi | शिक्षक दिवस पर 5 कविताएं

5 Best Poem on Teachers Day in Hindi for Students

ये प्रेरक कविताएं राष्ट्र के उज्जवल भविष्य का निर्माण करने वाले शिक्षकों को समर्पित हैं| समस्त शिक्षकगणों के सम्मान में कुछ सुन्दर शिक्षक दिवस पर कविताएँ यहाँ उपलब्ध हैं| छात्र व् छात्राएं इन कविताओं को अपने गुरुओं को समर्पित करके उनका आभार व्यक्त करें –

Teachers Day Poem in Hindi

Teachers Day Hindi Poems

सही क्या है, गलत क्या है,
ये सब बताते हैं आप,झूठ क्या है और सच क्या है
ये सब समझाते है आप,

जब सूझता नहीं कुछ भी
राहों को सरल बनाते हैं आप,

जीवन के हर अँधेरे में,
रौशनी दिखाते हैं आप,

बंद हो जाते हैं जब सारे दरवाज़े
नया रास्ता दिखाते हैं आप,

सिर्फ किताबी ज्ञान ही नहीं
जीवन जीना सिखाते हैं आप!

Hindi Teachers Day Poem

गुरु बिन ज्ञान नहीं
गुरु बिन ज्ञान नहीं रे।अंधकार बस तब तक ही है,
जब तक है दिनमान नहीं रे॥

मिले न गुरु का अगर सहारा,
मिटे नहीं मन का अंधियारा

लक्ष्य नहीं दिखलाई पड़ता,
पग आगे रखते मन डरता।

हो पाता है पूरा कोई भी अभियान नहीं रे।
गुरु बिन ज्ञान नहीं रे॥

जब तक रहती गुरु से दूरी,
होती मन की प्यास न पूरी।

गुरु मन की पीड़ा हर लेते,
दिव्य सरस जीवन कर देते।

गुरु बिन जीवन होता ऐसा,
जैसे प्राण नहीं, नहीं रे॥

भटकावों की राहें छोड़ें,
गुरु चरणों से मन को जोड़ें।

गुरु के निर्देशों को मानें,
इनको सच्ची सम्पत्ति जानें।

धन, बल, साधन, बुद्धि, ज्ञान का,
कर अभिमान नहीं रे, गुरु बिन ज्ञान नहीं रे॥

गुरु से जब अनुदान मिलेंगे,
अति पावन परिणाम मिलेंगे।

टूटेंगे भवबन्धन सारे, खुल जायेंगे, प्रभु के द्वारे।
क्या से क्या तुम बन जाओगे, तुमको ध्यान नहीं, नहीं रे॥

Happy Teachers Day Poem Hindi

सुन्दर सुर सजाने को साज बनाता हूँ
नौसिखिये परिंदों को बाज बनाता हूँ.चुपचाप सुनता हूँ शिकायतें सबकी
तब दुनिया बदलने की आवाज बनाता हूँ.

समंदर तो परखता है हौंसले कश्तियों के
और मैं डूबती कश्तियों को जहाज बनाता हूँ,

बनाए चाहे चांद पे कोई बुर्ज ए खलीफा
अरे मैं तो कच्ची ईंटों से ही ताज बनाता हूँ ।।

Poem on Teachers Day in Hindi

गुरु आपकी ये अमृत वाणी हमेशा मुझको याद रहे
जो अच्छा है जो बुरा है उसकी हम पहचान करे,मार्ग मिले चाहे जैसा भी उसका हम सम्मान करे
दीप जले या अँगारे हो पाठ तुम्हारा याद रहे,

अच्छाई और बुराई का जब भी हम चुनाव करे
गुरु आपकी ये अमृत वाणी हमेशा मुझको याद रहे,

Teachers Day Poems / Kavita

हम स्कूल रोज हैं जाते
शिक्षक हमको पाठ पढ़ाते,दिल बच्चों का कोरा कागज
उस पर ज्ञान अमिट लिखवाते,

जाति-धर्म पर लड़े न कोई
करना सबसे प्रेम सिखाते,

हमें सफलता कैसे पानी
कैसे चढ़ना शिखर बताते,

सच तो ये है स्कूलों में
अच्छा इक इंसान बनाते,

मित्रों शिक्षक दिवस प्रति वर्ष 5 सितम्बर को मनाया जाता है| गुरुओं के सम्मान में मनाये जाने वाले इस दिवस पर हम सभी को अपने गुरुओं के प्रति आभार प्रकट करना चाहिए| आज हम जो भी हैं उन्हीं के मार्गदर्शन से हमारा निर्माण हुआ है, ऐसे आदरणीय सज्जनों को हिंदीसोच की ओर से प्रणाम!!

यह कवितायेँ आपको कैसी लगीं हमें कमेंट करके जरूर बताइये|

ये भी पढ़ें-
शिक्षक दिवस पर अनमोल वचन
अब्दुल कलाम के विचार
हरिवशं राय बच्चन की कविता
बच्चों के लिए कविता

12 Comments

  1. बहुत बढ़िया और आप हमेशा इसी तरह कुछ नया अच्छा बनाये रखे।

  2. TEACHER DAY SPECIAL BASED ON MOVIE SUPER३०
    August 29, 2019

    Teacher Day Special based on Movie Super३० , Poem on Teacher Day, Poem based on Teacher
    Teacher Day Special based on Movie Super३०

    कभी शिक्षा का ऐसा रूप नहीं देखा है
    जो सुपर ३० फिल्म में दर्शाया है
    उड़ते परिंदो को मिला खुला आसमान है
    हर जज़्बे को मिली कामयाबी की राह है।

    एक गुरु जब शिक्षा की लो जलाता है
    तो क्या सामान्य और उच्च वर्ग को देख के पढ़ाता है
    फिर तो वो एक व्यापारी ही कहलाता है
    जो शिक्षा से कर रहा अपना व्यापार है।

    शिक्षा क्यों पैसो की मोहताज़ है
    क्या इस पर नहीं सबका समान अधिकार है
    फिर क्यों फिर रहे इतने बेरोजगार है
    क्या शिक्षा बन गयी “ऊंची दूकान और फीके पकवान” है।

    शिक्षा दिवस पर बस इतना ही कहना है ——
    law of gravity की तरह शिक्षक करे मागदर्शन है
    newton’s law से ख्वाबो को दे ऊंचा आसमान है
    पेंडुलम की तरह रखे हर वर्ग को एक समान है
    तभी शिक्षा को मिलेगा एक नया आयाम है।
    और गुरु को मिलेगा सच्चा सम्मान है।
    nrinkle.com

  3. The power developed by a person with conviction is greater than the one who only has interest

Close