भगवान में विश्वास Swami Vivekananda Hindi Story

Story of Swami Vivekananda in Hindi

स्वामी विवेकानंद का सम्पूर्ण जीवन एक दीपक के समान है जो हमेशा अपने प्रकाश से इस संसार को जगमगाता रहेगा और उनका जीवन सदा हम लोगों के लिए एक प्रेरणा का स्रोत बना रहेगा।

एक बार स्वामी विवेकानंद ट्रेन से यात्रा कर रहे थे और हमेशा की तरह भगवा कपडे और पगड़ी पहनी हुई थी। ट्रेन में यात्रा कर रहे एक अन्य यात्री को उनका ये रूप बहुत अजीब लगा और वो स्वामी जी को कुछ अपशब्द कहने लगा बोला – तुम सन्यासी बनकर घूमते रहते हो कुछ कमाते धमाते क्यों नहीं हो, तुम लोग बहुत आलसी हो, लेकिन स्वामी जी दयावान थे उन्होंने उसकी तरफ बिलकुल भी ध्यान नहीं दिया और हमेशा की तरह चेहरे पे तेज लिए मुस्कुराते रहे ।

उस समय स्वामी जी को बहुत भूख लगी हुई थी क्यूंकि उन्होंने सुबह से कुछ खाया पिया नहीं था। स्वामी जी हमेशा दूसरों के कल्याण के बारे में सोचते थे अपने खाने का उन्हें ध्यान ही कहाँ रहता था । एक तरफ स्वामी जी भूख से व्याकुल थे वहीँ वो दूसरा यात्री उनको अप्शब्द और बुरा भला कहने में कोई कमी नहीं छोड़ रहा था । इसी बीच स्टेशन आ गया और स्वामी जी और वो यात्री दोनों उतर गए। उस यात्री ने अपने बैग से अपना खाना निकाला और खाने लगा और स्वामी जी से बोला – अगर कुछ कमाते तो तुम भी खा रहे होते।

स्वामी जी बिना कुछ बोले चुपचाप थकेहारे एक पेड़ के नीचे बैठ गए और बोले मैं अपने ईश्वर पे विश्वास करता हूँ जो वो चाहेंगे वही होगा । अचानक ही कहीं से एक आदमी खाना लिए हुए स्वामी जी के पास आया और बोला क्या आप ही स्वामी विवेकानंद हैं और इतना कहकर को स्वामी जी के कदमों में गिर पड़ा और बोला कि मैंने एक सपना देखा था जिसमें खुद भगवान ने मुझसे कहा कि मेरा परम भक्त विवेकानंद भूखा है तुम जल्दी जाओ और उसे भोजन देकर आओ ।

बस इतना सुनना था कि वो यात्री जो स्वामी जी की आलोचना कर रहा था भाग कर आया और स्वामी जी के कदमों में गिर पड़ा, बोला – महाराज मुझे क्षमा कर दीजिये मुझसे बहुत बड़ी भूल हुई है मैंने भगवान को देखा नहीं है लेकिन आज जो चमत्कार मैंने देखा उसने मेरे भगवान में विश्वास को बहुत ज्यादा बड़ा दिया है। स्वामी जी ने दया भाव से व्यक्ति को उठाया और गले से लगा लिया ।

स्वामी जी के जीवन से जुडी ये सत्य घटना बहुत अधिक प्रभावित करती है और बताती है कि किस तरह भगवान अपने भक्तों की रक्षा करते हैं और पालन पोषण करते हैं ।

स्वामी विवेकानंद के विचार

स्वामी विवेकानंद के द्वारा कहे गए हर वाक्य अमृत तुल्य हैं। अगर उनके द्वारा कही गयी एक भी बात को हम अपने जीवन में उतार लें तो जीवन सफल हो जायेगा। स्वामी विवेकानंद का पूरा जीवन ही ज्ञान रूपी प्रकाश से भरा हुआ है। आज इस लेख में मैं उनके द्वारा कहे गए कुछ सन्देश आपके साथ शेयर कर रहा हूँ-

Quote 1 – अपने लिए एक लक्ष्य बनाओ , और उस लक्ष्य को अपना जीवन बनाओ, उसी के बारे में सोचो , उसी के सपने देखो और उसी लक्ष्य के लिए जियो, अपना तन मन, दिमाग को उसी में लगाओ और सारी चिंताओं को भूल जाओ, यही सफलता का रास्ता है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 2 – हम जैसा सोचते हैं तुम वैसा ही बन जाते हैं, तो कोशिश करें आप जैसा बनना चाहते हैं वैसा ही सोचें और महसूस करें

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 3 – मनुष्य को अंदर से विकसित होना चाहिए, ये आपको कोई नहीं सीखा सकता आपकी अन्तरात्मा ही आपको सीखा सकती है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 4 – मानव के शरीर रूपी मंदिर में ही भगवान का वास है, जिस दिन इस सच्चाई को लोग मानने लगेंगे उसी दिन हम दुनियां के हर दुःख और हर बंधन से मुक्ति पा लेंगे

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 5 – आप भगवान में विश्वास नहीं कर सकते जब तक आप खुद पे विश्वास करना ना सिख लें

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 6 – उठो जागो और तब तक मत रुको जब तक आप अपना लक्ष्य हासिल ना कर लो

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 7 – जितना हम अच्छा सोचेंगे और जितना दूसरों का भला करेंगे उतना ही हमारा हृदय शुद्ध होता जायेगा और उसमें भगवान का निवास होगा

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 8 – इस पूरे ब्रह्माण्ड में जो शक्ति है वो सब हममें मौजूद है और वो हम ही हैं जो खुद अपनी आँखें बंद करके अंधकार में शक्तियों को नहीं पहचान पा रहे हैं

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 9 – ये कभी मत सोचिये कि आत्मा के लिए कोई काम असंभव है, अगर कोई बुराई है तो वो सिर्फ ये कि हम मान लेते हैं कि हम कमजोर हैं या दूसरे कमजोर हैं

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 10 – हम उस भगवान को कहीं नहीं ढूंढ सकते जिसे हम अपने हृदय या दूसरों के हृदय में नहीं देख सकते

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 11 – सत्य हजारों तरीकों से बोला जा सकता है बशर्ते कि वो सत्य हो

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 12 – अगर कोई इंसान बेहतर तरीके से खुद पे विश्वास करना सीख जाये और ऐसा करने का अभ्यास करे हो तो मुझे लगता है कि हमारे अंदर का दुःख और बुराइयाँ काफी हद तक दूर हो सकती हैं

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 13 – अगर पैसे से किसी इंसान की मदद की जाये तो यह पैसे का कुछ मूल्य है लेकिन अगर पैसा किसी के काम ना आ सके तो वो एक बुराई के ढेर के सामान है जिससे जल्द से जल्द छुटकारा पाना जरुरी है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 14 – अगर एक शब्द में कहा जाये – तो तुम ही परमात्मा, यही सत्य है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 15 – प्रेम का हमेशा विस्तार होता है और स्वार्थ हमेशा संकुचित होता है, अर्थात प्रेम ही जीवन का नियम है जो प्रेम करता है वही जीने योग्य है, जो स्वार्थी है उसका विनाश निश्चित है। जिस तरह साँस लेना जरुरी है उसी तरह इंसान को एक दूसरे से प्रेम बहुत जरुरी है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 16 – सच्ची सफलता, सच्ची ख़ुशी का राज क्या है – जो इंसान बिना किसी स्वार्थपरता के, बिना कुछ मांगे लोगों की सेवा करता है वही सच्ची सफलता है –

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 17 – अपने आप में विश्वास रखना और सत्य का पालन करना ही सबसे बड़ा धर्म है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 18 – हर सफल कार्य को तीन चरणों से गुजरना पड़ता है – पहला – उपहास, दूसरा- विरोध , तीसरा -स्वीकृति

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 19 – संसार के सारे रहस्य आपके सामने खुले हुए हैं, जरुरत है तो सिर्फ उस रहस्य तक पहुँचने की, उसे अपनाने की और यह शक्ति केवल एकाग्रता से ही आती है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 20 – एक ऐसी भूमि जहाँ के लोग, पवित्रता की ओर, उदारता की ओर और मानवता शांति की दिशा में अग्रसर हैं, वो है – भारत भूमि

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 21 – जब दिल और दिमाग में संघर्ष हो तो हमेशा दिल की सुनो

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 22 – जब आपके सामने कोई परेशानियाँ आनी बंद हो जाएँ तो समझिए आप गलत रास्ते पर हैं

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 23 – ऐसी चीजें जो आपको कमजोर बनाती हैं- मानसिक या शारीरिक, ऐसी चीज़ों का जल्द ही त्याग कर देना चाहिए

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 24 – किसी चीज़ से मत डरो, आप जरूर महान काम करेंगे, आपकी निडरता ही आपको पल भर में स्वर्ग में ले जाती है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 25 – जो दूसरों के लिए जीते हैं वो अकेले ही जीते हैं

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 26 – शक्ति जीवन है, कमजोरी मौत है
विस्तार जीवन है, संकुचन मृत्यु है।

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 27 – शिक्षा एक सम्पूर्णता की अभिव्यक्ति है जो मनुष्य में विध्यमान है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 28 – महान कार्य करने के लिए महान और लगातार काम की जरुरत पड़ती है, एक हजार ठोकर खाने के बाद ही एक अच्छे चरित्र की स्थापना होती है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 29 – एक चट्टान के रूप में खड़े हो जाओ; आप अविनाशी हैं। आप स्वयं (आत्मा), ब्रह्मांड के भगवान हैं

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 30 – जब अंधविश्वास जन्म लेता है तो मस्तिष्क चला जाता है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 31 – मन एक छोटा पर शरीर का महत्वपूर्ण अंग है। आपको अपने मन और शब्द दोनों को मजबूत बनाना होगा

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 32 – कुछ ईमानदार और ऊर्जावान लोग एक साल में उतना कार्य कर सकते हैं जितना दूसरे लोग सैकड़ों सालों में नहीं कर सकते

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 33 – निराशा से बचो, निराश होने से आपकी जीत का रास्ता कठिन हो जाता है। निराशा तलवार की धार पे चलने के समान है, तो उठो जागो और अपने लक्ष्य की प्राप्ति में लग जाओ

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 34 – कायर लोग ही हमेशा पाप करते हैं, बहादुर कभी नहीं, सपने में भी नहीं

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 35 – शुरुआत अगर छोटी है तो घबराइये मत, महान कार्य बाद में ही होते हैं –

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 36 – शुरुआत में ही बड़ी योजनाएं मत बनाइये, छोटी शुरुआत करिये फिर आगे बढ़ते रहिये और बढ़ते रहिये

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 37 – दूसरों के सहारे का इंतजार मत करिये, जो करना है खुद करिये, अपने सपने खुद पूरा कीजिये

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 38 – लोग डरते क्यों हैं? क्यूंकि उन्होंने खुद को निरीह बनाया हुआ है वो दूसरों पर निर्भर हैं। उन लोगों को अपने लिए एक अलग भगवान चाहिए, वो हमेशा सहारा ही ढूंढते हैं, इसीलिए वे डरते हैं

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 39 – ज्ञान पाने का केवल एक ही तरीका है – अनुभव , और कोई दूसरा रास्ता नहीं है

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 40 – अगर आप नि:स्वार्थ हैं तो आप बिना कोई धार्मिक पुस्तक पढ़े, बिना मंदिर या मस्जिद गए भी सम्पूर्ण हैं

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 41 – हर आदमी, औरत हर इंसान में आप भगवान का रूप देखिये। हर इंसान की मदद करिये

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

Quote 42 – नर सेवा नारायण सेवा

– Swami Vivekananda स्वामी विवेकानंद

अन्य प्रेरक लेख भी पढ़िए –
विवेकानंद के अनमोल वचन
माँ की ममता पर कहानी
स्वामी विवेकानंद की जीवनी
किसी व्यक्ति की महानता उसके चरित्र और ज्ञान पर निर्भर करती हैं पहनावे पर नहीं
अच्छी बातें सिर्फ सुनिए मत उन्हें जीवन में उतारिये

Related Articles

14 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close