Best Socrates Quotes in Hindi दार्शनिक सुकरात के विचार

Top 30 Socrates Quotes In Hindi - सुकरात के अनमोल विचार

ग्रीक देश के रहने वाले सुकरात अपने समय के महान दार्शनिक थे| लोगों के ज्ञान का प्रसार करना और पुरानी रुढ़िवादी नीतियों का विरोध करना ही उनके जीवन का मुख्य उद्देश्य था| गरीब परिवार से सम्बन्ध रखने के बावजूद वह एक प्रसिद्ध और महान दार्शनिक के रुप में उभरे और समाज में परिवर्तन करने के अनेकों प्रयास किये|

सुकरात को पश्चिमी दर्शन का जनक के रुप में जाना जाता है| पश्चिमी सभ्यता के विकास में उनका बहुत मुख्य योगदान रहा है| सुकरात के एक सैनिक के रुप में भी देश की सेवा की थी| सुकरात युवाओं को दर्शन का ज्ञान देते थे और उनके सवालों का हल बताते थे| आइये इस लेख में हम आपको सुकरात के दार्शनिक विचारों से आपको अवगत कराते हैं|

आलस्य में बिताया गया जीवन आत्महत्या के समान है

– Socrates Quotes सुकरात

किसी से मित्रता करने में हमेशा धीमे रहिये, लेकिन जब मित्रता कर लीजिये तो उसे मजबूती से निभाइए और उसपर स्थिर रहिये

– Socrates सुकरात

मूल्यहीन व्यक्ति केवल खाने और पीने के लिए जीते हैं जबकि मूल्यवान व्यक्ति केवल जीने के लिए खाते और पीते हैं

– Socrates सुकरात

दुनिया में सम्मान से जीने का सबसे अच्छा तरीका ये है कि हम वैसे बन जाएँ जैसा हम होने का दिखावा करते हैं

– Socrates सुकरात

वही व्यक्ति सबसे धनवान है जो कम से कम में संतुष्ट रहता है, क्योंकि संतुष्टि ही प्रकृति की सबसे बड़ी दौलत है

– Socrates सुकरात

केवल जीवन जीना ही मायने नहीं रखता, सच्चाई से जीना मायने रखता है

– Socrates सुकरात

खुशियों का रहस्य ज्यादा पाने में नहीं है बल्कि थोड़े का आनंद लेने में है

– Socrates सुकरात

मैं सारे जीवित व्यक्तियों में सबसे बुद्धिमान हूँ, क्योंकि मैं ये जानता हूँ कि “मैं कुछ नहीं जानता”

– Socrates सुकरात

मृत्यु तो संभवतः मानवीय वरदानो में सबसे महान है

– Socrates सुकरात

चाहे जो भी हो लेकिन शादी कीजिये- अगर अच्छी पत्नी मिली तो आपकी सारी ज़िन्दगी खुशहाल रहेगी और अगर बुरी पत्नी मिलेगी तो आप दार्शनिक बन जायेंगे

– Socrates सुकरात

जीवनभर ज्ञानार्जन करने के बाद मैं केवल इतना ही जान पाया हूं कि मैं कुछ भी नहीं जानता हूँ

– Socrates सुकरात

केवल ज़िन्दगी नहीं, बल्कि एक अच्छी ज़िन्दगी को महत्ता देनी चाहिए

– Socrates सुकरात

हमारी प्रार्थना तो केवल दूसरों के लिए आशीर्वाद के लिए होनी चाहिए, क्योंकि भगवान खुद जानते हैं कि हमारे लिए क्या अच्छा है और क्या नहीं

– Socrates सुकरात

कुछ जानने योग्य सुविचार –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button