एक गिलास दूध Short Story on Kindness in Hindi

be-kindएक गरीब लड़का घर-घर जाकर सामान बेचता था ताकि वह अपनी पढ़ाई कर सके और स्कूल की फीस भर सके| एक दिन उसके पास सिर्फ एक रूपया ही बचा, उसे बहुत भूख लग रही थी| वह एक घर के करीब पहुंचने वाला था उसने सोचा कि इस घर पर जाकर खाने के लिए कुछ मांगू।

एक औरत ने दरवाजा खोला| जब औरत ने उस लड़के की तरफ देखा तो वह समझ गयी कि यह बहुत भूखा है| फिर उसने एक दूध का गिलास लाकर दिया, उस लडके ने दूध पीने के बाद कहा कितने पैसे हुए?

औरत ने कहा, तुम यह खरीद नहीं सकते, मुझे मेरी माँ ने सिखाया है कि कभी गरीब इंसानो से पैसे नहीं लेना चाहिए| लड़का बोला, फिर तो मैं आपको दिल से धन्यवाद देता हूँ, और कहा अब मैं शारीरिक रूप से ही स्वस्थ नहीं हूँ बल्कि मेरी परमात्मा में भी आस्था बढ़ी है| उस लडके का नाम Howard Kelly था |

बहुत साल बीत गए, एक दिन उस औरत की तबियत बिगड़ गयी| स्थानीय डॉक्टर भी उसकी मदद नहीं कर पाये | इसलिए उन्होंने उसे बाहर शहर में भेज दिया ताकि उसकी बीमारी का सही ढंग से इलाज हो सके | उस हॉस्पिटल में इलाज के लिए Dr Howard Kelly को बुलाया गया था |

जब वह उस औरत के कक्ष में गए तो उस लड़के ने झट से उस औरत को पहचान लिया, जिसने उस पर दया की थी, जब वह गरीब था और घर-घर सामान बेचने जाता था | उस लडके ने औरत को बीमारी से उबरने में मदद करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ करने की ठान ली थी|

उनका परिश्रम लम्बा चला लेकिन उन्होंने अंत में बिमारी पर विजय पा ली, कुछ देर बाद उस औरत को हॉस्पिटल का बिल भरने को कहा गया | वह औरत चिंतित हुई क्यूंकि उसके पास बिल चुकाने के लिए इतने पैसे नहीं थे, उसकी पूरी जिंदगी की कमाई भी इस इलाज के लिए कम थी |

अंत में जब महिला ने बिल को ठीक से देखा तो उसने कुछ शब्दों को पढ़ा जो कि बिल के एक तरफ लिखे थे| वहां लिखा था : एक गिलास दूध का पूरा भुगतान कर दिया |

दोस्तों जहाँ लोगों में दया की भावना होती है वहाँ ईश्वर का वास होता है। अगर आप आज किसी की मदद करेंगे तो यकीन मानिये कल जब आपको मदद जरुरत होगी तो ईश्वर आपकी मदद जरूर करेंगे। दूसरों की मदद करके आप असल में खुद की ही मदद कर रहे होते हैं।

दोस्तों आप लोगों को motivate करने के लिए HindiSoch.Com की तरफ से बेहतर से बेहतर प्रयास किये जाते हैं। आपके हर कहानी पर किये गए कॉमेंट और शेयर, हमें और अच्छा करने के लिए प्रेरित करते हैं तो आप लोगों से एक गुजारिश है कि जब भी आप हिंदीसोच कोई आर्टिकल या कहानी पढ़े तो उसे अपने फेसबुक और ट्विटर पर जरूर शेयर करें और नीचे कॉमेंट बॉक्स में अपनी राय जरूर दें।

धन्यवाद!!!!

ये सुंदर कहानी हमें गौरव जी ने भेजी है, गौरव जी के बारे में –

Name- Gaurav
Blogging on http://hindimind.in
Interest in – I like to wright articles this is my passion

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

33 Comments

  1. i like this story too much. It is great and really heart touching story. and i also like who write this story. i want to say thanks to the writer. and best of luck for finding new stories.

    your sincerely
    piyush
    Facebook.com/piyush.bharti.794

  2. Awsmm efforts by hindisoch.com thanks for making these sites people now a days arey forgetting our values nd they are busy making money and their onw lives no body is concern about the values they should have in their heart . Thanks hindisoch.com beautiful efforts

  3. very nice and good, such hai ki kan kab kiya hoga kuch nehi kaha sakte hai kinu ki samye easa mod hai ki kha le jata hai kabhi bhi ghamnd nehi karna chahiye.

    thanks dosto

  4. Ye bahut achchi pahel hai aapki is madhyam se logo me badlav bhi aa sakta hai aur aap samaj ko behtar karne ka ek achcha kaam is madhyam se kar rahe hai meri aapki is website aur iske sabhi padadhikaryon ko bahut bahut badhayi. Ishwar hamesha aap logo ke saath hai hamesha achcha karte rahiye yahi sachcha rashtr prem hai aur yahi har dharam sikhata hai.

Close