सच्चे प्यार की लव स्टोरी A Short Love Story in Hindi

Cute n Short Love Story in Hindi / हिंदी लव स्टोरी

ऋषि को चौदह साल की उम्र में ही पहला प्यार हो गया था| ऋषि उस समय आठवीं क्लास में था, उम्र कम थी लेकिन मॉर्डन ज़माने में लोग इसी उम्र में प्यार कर बैठते हैं|

ऋषि का ये पहला प्यार उसकी क्लास में पढ़ने वाली लड़की “नीलम” के साथ था| नीलम अमीर घराने की लड़की थी, उम्र यही कोई 13 -14 साल ही होगी और दिखने में बला की खूबसूरत थी| नीलम के पापा का प्रापर्टी डीलिंग का काम था, अच्छे पैसे वाले लोग थे|

ऋषि मन ही मन नीलम को दिल दे बैठा था लेकिन हमेशा कहने से डरता था| ऋषि के पिता एक स्कूल में अध्यापक थे| उनका परिवार भी सामान्य ही था इसीलिए डर से ऋषि कभी प्यार का इजहार नहीं करता था|

चलो इस प्यार के बहाने ऋषि की एक गन्दी आदत सुधर गयी| ऋषि आये दिन स्कूल ना जाने के नए नए बहाने बनाता था लेकिन आज कल टाइम से तैयार होके चुपचाप स्कूल चला आता था| माँ बाप सोचते बच्चा सुधर गया है लेकिन बेटे का दिल तो कहीं और अटक चुका था|

समय ऐसे ही बीतता गया…लेकिन ऋषि की कभी प्यार का इजहार करने की हिम्मत नहीं हुई बस चोरी छिपे ही नीलम को देखा करता था| हाँ कभी -कभी उन दोनों में बात भी होती थी लेकिन पढाई के टॉपिक पर ही.. ऋषि दिल की बात ना कह पाया|

समय गुजरा,,आठवीं पास की, नौवीं पास की…अब दसवीं पास कर चुके थे लेकिन चाहत अभी भी दिल में ही दबी थी|

True Hindi Love Story

आज स्कूल का अंतिम दिन था| ऋषि मन ही मन उदास था कि शायद अब नीलम को शायद ही देख पायेगा क्यूंकि ऋषि के पिता की इच्छा थी कि दसवीं के बाद बेटे को बड़े शहर में पढ़ाने भेजें|

स्कूल के अंतिम दिन सारे दोस्त एक दूसरे से प्यार से गले मिल रहे थे, अपनी यादें शेयर कर रहे थे| नीलम भी अपनी फ्रेंड्स के साथ काफी खुश थी आज..सब एन्जॉय कर रहे थे,, अंतिम दिन जो था लेकिन ऋषि की आँखों में आंसू थे|

ऋषि चुपचाप क्लास में गया और नीलम के बैग से उसका स्कूल identity card निकाल लिया| उस कार्ड पर नीलम की प्यारी सी फोटो थी| ऋषि ने सोचा कि इस फोटो को देखकर ही मैं अपने प्यार को याद किया करूंगा|

बैंक से लोन लेकर पिताजी ने ऋषि को बाहर पढ़ने भेज दिया| नीलम के पिता ने भी किसी दूसरे शहर में बड़ा मकान बना लिया और वहां शिफ्ट हो गए| ऋषि अब हमेशा के लिए नीलम से जुदा हो चुका था|

समय अपनी रफ़्तार से बीतता गया,, ऋषि ने अपनी पढाई पूरी की और अब एक बड़ी कम्पनी में नौकरी भी करने लगा था, अच्छी तनख्वाह भी थी लेकिन जिंदगी में एक कमी हमेशा खलती थी – वो थी नीलम।। लाख कोशिशों के बाद भी ऋषि फिर कभी नीलम से मिल नहीं पाया था|

घर वालों ने ऋषि की शादी एक सुन्दर लड़की से कर दी और संयोग से उस लड़की का नाम भी नीलम ही था| ऋषि जब भी अपनी पत्नी को नीलम नाम से पुकारता उसके दिल की धड़कन तेज हो उठती थी| आखों के आगे बचपन की तस्वीरें उभर आया करतीं थी| पत्नी को उसने कभी इस बात का अहसास ना होने दिया था लेकिन आज भी नीलम से सच्चा प्यार करता था|

एक दिन ऋषि कुछ फाइल्स तलाश कर रहा था कि अचानक उसे नीलम का वो बचपन का Identity Card मिल गया| उसपर छपे नीलम के प्यारे से चेहरे को देखकर ऋषि भावुक हो उठा कि तभी पत्नी अंदर आ गयी और उसने भी वह फोटो देख ली|

पत्नी – यह कौन है ? जरा इसकी फोटो मुझे दिखाओ

ऋषि – अरे कुछ नहीं, ये ऐसे ही बचपन में दोस्त थी

पत्नी – अरे यह तो मेरी ही फोटो है, ये मेरा बचपन का फोटो है,, देखो ये लिखा “सरस्वती कान्वेंट स्कूल” यहीं तो पढ़ती थी मैं

ऋषि यह सुनकर ख़ुशी से पागल सा हो गया – क्या है तुम्हारी फोटो है ? मैं इस लड़की से बचपन से बहुत प्यार करता हूँ

नीलम ने अब ऋषि को अपनी पर्सनल डायरी दिखाई जहाँ नीलम की कई बचपन की फोटो लगीं थीं| ऋषि की पत्नी वास्तव में वही नीलम थी जिसे वह बचपन से प्यार करता था|

नीलम ने ऋषि के आंसू पौंछे और प्यार से उसे गले लगा लिया क्यूंकि वह आज से नहीं बल्कि बचपन से ही उसका चाहने वाला था|

ऋषि बार बार भगवान् का शुक्रिया अदा कर रहा था!!

दोस्तों वो कहते हैं ना कि प्यार अगर सच्चा हो तो रंग लाता ही है| ठीक वही हुआ ऋषि और नीलम के साथ भी..

ये भी पढ़ें:-
True Love Quotes in Hindi
वो नहीं मिली A Love Story
प्यार से जुड़े रोचक तथ्य
Friendship Quotes in Hindi

आपको ये प्रेम कहानी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताइये क्यूंकि आपके कमेंट्स ही हमें और बेहतर लिखने के लिए प्रेरित करते हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

170 Comments

  1. हेल्लो सर, मैं यह जानना चाहता हूँ की आप जो नीचे adnow के विज्ञापन दिखा रहे हैं क्या यह adnow के ही विज्ञापन हैं या फिर IncRevenue के विज्ञापन हैं… प्लीज उत्तर दीजियेगा…

    मेरी वेबसाइट को adnow ने ब्लाक कर दिया हैं… लेकिन मैं यह जानना चाहता हूँ की आपके वेबसाइट पर जो विज्ञापन दीखाई दे रहे हैं, वे असल में किस कम्पनी के हैं…

    जैसा की आपके विज्ञापनों के ऊपर Ads by IncRevenue लिखा हैं तो नीचे Sponsored by Adnow लिखा हुआ हैं..

    आप कौन से एडनेटवर्क का इस्तेमाल कर रहे हैं.. प्लीज मेरी हेल्प कीजियेगा…

    मैंने डेढ़ साल से एडनाउ के विज्ञापन अपनी वेबसाइट पर लगाए और अच्छी कमाई भी की… लेकिन न जाने जुलाई 2017 के अंत में पता नहीं कैसे मेरी वेबसाइट पर adnow के विज्ञापनो का ctr रेट 8 से 10% हो गया.. जिसकी वजह से सिर्फ 1 हफ्ते के अंदर ही adnow वालों ने मेरी वेबसाइट को ब्लोक कर दिया और मेरी पिछले डेढ़ महीने की कमाई भी हड़प कर ली..

    मैंने adnow वालों से जब इसका कारण पूछा तो उन्होंने बताया की फेक क्लिक हुए हैं.. मैंने उनसे कहाँ की मुझे नहीं पता की यह फेक क्लीक किसने किये हैं और क्यों किये हैं? आखिर इसकी सज़ा मुझे क्यों दी जा रही हैं? उन्होंने कोई उत्तर नहीं दिया.. सिर्फ एक फोटो भेज दी जिसपर फेक क्लीक की लिस्ट दी गयी थी.

    जब मैंने वह फेक क्लीक वाली लिस्ट को देखा तो यह देख कर और भी ज्यादा हैरान हो गया की एक ही जगह से एक ही समय पर 1 विज्ञापन पर 6 फेक क्लीक हुए… यानी की 1:15:23 PM पर सेम टाइम पर 1 विज्ञापन पर 6 क्लीक एक साथ कैसे हो सकते हैं? मैंने adnow वालो को कई बार टिकेट के जरिये संपर्क किया और उन्हें बहुत समझाया की मैं एक इमानदार ब्लॉगर हु, मैंने कोई गलत काम नहीं किया हैं… मैं नहीं जानता की यह फेक क्लीक किसने और क्यों किये हैं… लेकिन उन्होंने मेरी कोई बात नहीं मानी… और मेरी सभी कमाई कई राशी को भी शुन्य कर दिया…

    मैंने एड्नोव वालों को यह भी बताया की मैं आपके विज्ञापन का इस्तेमाल पिछले डेढ़ सालों से कर रहा हूँ… लेकिन उन्होंने मेरी बात नहीं मानी… उसके बाद मैंने यह भी पाया की जिस समय मेरी वेबसाइट पर adnow के विज्ञापन ब्लाक हो गये थे, उसी समय कई दूसरी वेबसाइट पर भी एड्नोव के विज्ञापन ब्लाक हो गये थे.. जैसे की अच्छीखबर, ज्ञानी पंडित, रोचक.कॉम, ज्ञानदर्पण.कॉम और भी कई वेबसाइट पर एडनाउ के विज्ञापन ब्लाक हो गये थे..

    उसके बाद से मेरी कमाई में बहुत ज्यादा कमी आ गयी हैं.. मेरी डेढ़ साल से ब्लॉग्गिंग सही चल रही थी … जबसे adnow ब्लोक हुआ हैं तबसे मैं काफी दुखी रहता हूँ..

    प्लीज मुझे रिप्लाई दीजियेगा… की आप एडनाउ का इस्तेमाल कर रहे हैं या फिर IncRevenue का इस्तेमाल कर रहे हैं… धन्यवाद….

    1. कबीर…ये विज्ञापन Adnow के ही हैं, दरअसल IncRevenue एक कंपनी है जो हमारे वेबसाइट के विज्ञापनों को हैंडल करती हैं और अच्छी Placement के हिसाब से Ads की पोजीशन वगेहरा change करती है|

      पिछले कुछ दिनों में Adnow की शिकायत मैंने भी काफी सुनी है| कई लोगों को ब्लॉक किया है इसने और brother मेरी भी एक वेबसाइट पर ब्लॉक किया जा चुका है, मैंने भी बहुत कोशिश की लेकिन उन्होंने पैसे नहीं दिए| तो अब इसपर ध्यान ना दीजिये आगे बढिये इसी में सार है|

  2. bahut hi acchi kahani hain
    agar aapko love story padhni ho to aap humari site visit kar sakte hai..
    Maishayarhu.com

  3. condition esi hoti h jese aap khud ko khud se hi tod rhe ho.
    pyar agar ek tarfa ho to sabse khubsurat hota h lekin jab dono taraf se ho to bot sari zimmedariya bnti h

    m or vo 2014 me ek hue the.sath engineering me admission liya tha. mne to australia jane ka sapna chhod kar uske liye b.tech m admission liya taki pas reh sku. otherwise muje intrest hi nhi tha b.tech me or m clear b nhi kar paya.

    pyar hone k bad ham dono hi ek dusre ko sab kuch manne lge the. kahi ghumne jana to sath jana or movie jana college jana sab sath hota tha. har bat me ek dusre ko rkhte the lekin fir b bot dar rehta tha bcz hmare town k log ite open minded nhi the ki couple ko khushi se jine de isliye chhupke milna pdta tha
    ham jaipur rehne k liye aaye training time me to ek esa mahol mila jaha hme koi b nhi janta tha. bina dar k sath rehna pure din. hath me hath dalke sadko pe chalte.
    chhoti chhoti bato me khushi milti thi hme
    but time hmesha ek sa nhi rehta. vo apni family se bot pyar krti thi or yhi vajah bni ki use shadi ki bat se dar lgne lga. dhire dhire usne ye kehna shuru kiya ki shadi krni h to koi job dundo pehle. mere parents accept nhi krege ese. fir shadi k liye mna hone lga. mne ye sab expect nhi kiya tha.or ye sab hua b itna jaldi ki m tut gya uske muh se ye sab sunke
    mne bot minnat ki uski par jab ham bat krte is bare to ya to vo guse ho jati bot jyada or bat nhi krti ya rone lagti or mrne ki bat krne lagti jis karan muje ye bat chhodni pdti
    fir ham ghar vapas chle gye. b.tech puri ho chuki thi uski.lekin mere bot se subjects due the lekin m b chhod k ghar chla gya or kuch kam krne lag gya taki life me kuch kar sku.
    fir ab esa time aaya ki usne kaha ab mera rishta kahi or ho rha h or ab ham contact me nhi reh skte. lekin mne use kisi tarah mnaya ki muje kuch vakt chahiye khud ko smbhalne k liye.usne muje kaha ki ya to dost bnke reh lo hmesha k liye ya 1 mahina bf bnke reh lo or bhul jana . mne socha m 1 mahine me mna luga use to 1 mahina manga us se.usne kaha ki is 1 mahine me jitni bat krni h kar lo lekin uske bad mujse contact mt krna.
    jab 4 salo kese nikle yhi pta nhi lga to 1 mahine ka kya pta lagna tha..bot jaldi nikal gya
    mne bot koshish ki lekin usne apna fesla nhi bdla.
    isi bich m vapas jaipur aa gya railway ki preparation k liye(diploma base par).kyoki mera man pdne ko karne lga tha ab.
    or fir last rat ko ham facebook pe bat kr rhe the usne kaha ki kal se mujse koi contact mt krna. hamne bot late tk bat ki or ek dusre se bot kuch kaha. mne use kaha pdne pe dhyana lgana or successful ho jana life me. usne b yhi sab kaha. fir jab bye bolne ka time aaya to usne muje ek audio bheja. mai fir b tumko chahuga song. vo sunke m iti buri tarah se roya ki explain nhi kiya ja sakta. hmesha suna tha ki dil tut ta h to bot dard hota h. us vakt vo mehsus b kar liya tha mne.
    jab esi situation aati h to mrna bot asan lagta h lekin mne khud ko smbhala kyoki m meri ma ko dukhi nhi dekh skta.m nhi chahta ki vo puri umar roti rhe ye sochke ki mne 4 salo k pyar k liye use bhula diya or mar gya.
    lekin jise pure dil se chaha tha use ese bhul jana b asan nhi tha. kuch din bad mne use firse msg kiya kyoki muje us se kuch help chahiye thi peso k liye. or jesi muje umeed thi usne muje mna nhi kiya or meri help ki.
    mne try ki bat krne ki lekin usne kaha ki yhi vakt h hm dono ko pdne me dhyan lgana chahiye kyoki hmara religion alag h isliye hmari shadi kbi ho nhi skti. isliye hme apne or apni family k bare hi sochna chahiye ab.
    mne is bare bot socha or last me ye decision liya ki hme dost bnke reh lena chaiye. hmara pyar b dosti se hi shuru hua tha.
    mne use msg kiya.thodi der bat ki hal chal pucha or use kaha ki m chahta hu ki ham hmesha dost bnke rhe or ek dusre k sukh dukh me kam aaye. m tujse koi expectations nhi rkhuga or na kbi relationship ki bat kruga. bs muje teri dosti chahiye. kya tu meri dost bnegi.
    usne kuch der rply nhi kiya or fir kaha ki thik h lekin dosti hi expect krna or koi purani bat mt krna
    ab us bat ko 1 mahina hone vala h.ham kbi kbar bat krte h or dosto ki tarah hi krte h
    relationship me hmesha muje aap kehke bulati thi or ab tu kehke bulati h..muje b acha lagta h bcz dosti vali feeling aati h.
    m apna dhyan pdne me lga rha hu or vo b.
    dukhi hote h to abi b ek dusre ki hi yad aati h lekin bas fark ye h bs hak nhi rha ab kuch kehne ka ya mangne ka.
    kahi na kahi uske man me b pyar h or mere man me b lekin bas time esa h ki hme use apne man me dba k rkhna pd rha h.

    or is tarah vo meri half girlfriend ban chuki h

    is site pe pehle hmari kahaani aa chuki h. lekin vo usne likhi thi apne bare. ki kese use mujse pyar hua tha or uski life pehle kesi thi or ab kesi h mere sath.
    sabko ye kahaani bot psnd aayi thi or uske cmnt box se mere kuch bot ache dost b bne the.lekin m ab unke nam nhi likh skta vrna unhe pta lag jayega ki m kon hu or unhe hmare bare janke bot dukh hoga.

    mera aap sabko yhi suggestion h ki sbse pehle family ko rkho or uske bad pyar ko…sabka pyar badal skta h lekin tumhari maa ka pyar hmesha tumhare sath rhega.kbi kisi k liye mrna mat. apni life ko sudharo or kuch acha kro taki tumhari family tum me proud feel kre.

    m b bs isi koshish me hu…
    What’s app 970417751

  4. Exam Ke First Din mein exam de Raha Tha Mujhe Us Samay Ek Ladki Dikhi..
    Mujhe Use Dekhte Hi Kuch ajeeb Sa Mahsus Hone Laga..
    Bad Me Mujhe Pta Chala Ki O To s s college or chittorgarh Ki Hai..Mujhe Bahut Bura Laga Kyuki O Mere Se dur ki Thi..
    Khair koi Bat Nahi Mohbbt Mohbbt Hoti Hai..
    Ab Mai Use Roz exam Time Me Dekha Karta Tha, Hamesa Meri Nazre Usi Par Tiki Rahti Thi..
    Isi Tarah Karte Karte Kuch Din bit Gye ..
    Ab Mai Usse Bahut Pyar Karne Laga Tha, Magar O Mujhe Notice Tak Nahi Karti Thi…
    exam ka last din tha mein use purpose karna tha par usse Shayad Pta Chal Gya Ki Mai Use Like Karta hu… usne us din meri trf dekha tak nahi me thoda darr raha tha ki wah mujhe han kregi ya nahi , mein uske pas jane hi vala tha ki mere mom or driver dono miujhe ghar le jane ke liye aa gye the or me unke sath chlaa gaya is trh mera love aage nahi bad paya ……
    Par Aap To Jante Hi Ho Ki Koi Ladka Apni Pahli Mohabbt Ko Nahi Bhul Sakta…mein uske bare mein sab pta kiya or vah kaha rhti hein ….. jab last din me use purpose nahi kar paya us din …..
    Maa Kasam Bahut Roya….
    Dosto Aasha Karta Hu Ki Aapko Aisa problem na ho……

    One side lover

  5. Dil ko jo touch Kar k khus kr de asi he ye kahani
    Rotey chehrey me asu ki jagh halki ki muskan la de asi he ye kahani
    Aur Kya kahey pyar ki schchi dasta he ye kahani

    Par aur thodi jyada suney ka man karey to kya karey

  6. मुझे एसी पोस्ट बहुत ही पसंद होती है

    मैं भी चाहता हूं की मैं भी एक पोस्ट साझा करूं

    यदि एसा हो कि मेरी पोस्ट साझा हो सके तो मुझसे सम्पर्क करे
    DEVI RAM MEENA
    BASWA DAUSA
    MOB.NO. 9414308512

  7. Esa mere sath kab hoga
    Hey shivji wo ladki school.ke akhiri exam ke baad ab tak nhi muje nhi mili
    Kitne upvas kar liye
    Ab to mila de

  8. Nice bhaya mera pyar bhi yasahi kucha he

    Actually sacha dil jiska ho use bar bar umid bharasa milta rehega. Thanks nice your stori

  9. Mai bhi kisi se Bahut pyar karta hu……..
    ………mujhe mera pyar chahiye……
    ……ab kese milega ye mujhe pata nii

  10. वाकई अच्छी कहानी लेकिन ऐसे लोग कम ही भाग्यशाली होते हैं जिन्हें सच्चा प्यार मिलता है।

  11. yar kya khani he dil ko chhukar nikal gai pahle me ye sochta tha ki ab ye kabhi nhi mil payenge kudrat ka karisma to dhekho akhir mivahi diya may.nem dilip thakor .rajy gujrat. too.bhabhr. vilej mitha આ વીજ રીતે લખતા રહો.યે કહાની બહોત બહોત અચ્છી લગી . મોજમા રહો.

  12. kya mast story thi yr dil chhu gai sach me kuchh logo ki naseeb ho jata hai aisa lekin bhai story fek thi ma baap ko rishi dekha nahi raha hoga ya or usane kabhi nahi care kiya hoga or ha dasvi ke baad koi chahe jitna badal jaye but o pahchan me aa hi jata hai bhai

  13. Rishi or nilm ki story dill ko chhu gi .
    But in logo ko to apna pyar mill gye .
    Mere pyar aj v adura hai .
    😊😊😊 I am sad now .
    Bohat dard hota hai.

  14. वाह इस कहानी को जीतना बार पढ़ता हूँ उतना ज्यादा मज़ा आता है , यह कहानी सच मे दिल को छू गया ।

    1. Agr kisi ko Dill se Chaho to puri kaynat jut jati h use milane men But esa kuchh v nhi hota mea a to nhi kehta but kuchh Girls & Boys ese h ki is peyar ko bdnam kr rkha h

  15. TRUE LOVE

    Friends aj hum apko ek aise couple ke bare ki story btane ja rhe jo kbhi soch nh sakte ki wo kbhi sth ho bhi skte hn to story start krte hn.
    Ladke ka naam shaan n ladki ka naam kajal tha.
    Dono ek hi school me sth padhte the bt class 6,7.to nikal gai tb tk kisi ke andr koi feelings nh ai thi bt class 8 th last tk kajal ke andr kbhi kbhi eye contact se man me kch kch hone lga n khn na khn wo shaan ko like krne lgi fr to hr jgh uski ankhein shaan ko search krne lgi games field me mesg me class me n kahn na kahn shaan ke andr bhi kch SANSETION typ ka hota tha n jbhi kajal ki ankhein shaan ki trf hoti thi to shaan bhi uski trf dkh rha hota h n jb dono ki ankhein tairati hn to dono ekdm se apni ankhein idhr udhr dkhne lgte hn n kajal ko man hi man usse pyar ho jata h n wo kbhi bol bhi nh pai usse n andr hi andr usko bht chahe lgi bs eye contact krte krte dono 10 th class me agae n kajal ke andr hmsa shaan rhta tha uska man padhne me nh lgta tha uski ankhein bs usko hi search krti thi n shaan ne apni seat change kr di thi wo ab pure tym padhta tha n class 10 th bhi ho gya aise hi man me pyarkrte hue ab kajal ne school change kr diya qki kajal ko lga shyd agr wo shaan ke sth same school me rhi to padh nh paegi n wo bht doori chali gai district bhi change kr diya n shaan bht pareshan tha jis din kajal apni tc lene ai thi wo class bunk krke bs usko dkhne aya tha aur na to kajal boli na hi shaan bola dino na to ek dusre ko sch bta rhe the na hi samne akr face kr rhe the bt unki ankhein saf bol rhi thi ki hum intjaar krnge n dono alg ho gae n dono alg alg school me padhne lge n kajal ka ab pura dhyan padhne me rhta tha Wo apne class ki toper bn gai N usko bht ldke lynch dene lge kch ne propose bhi kiya bt usne sbko mana kr diya uske andr khn na khn abh shaan tha wo man hi man sochti thi kash shaan usse milne ae n idhr shaan bhi apni study man se kr rha tha wo bhi kajal ko miss krta tha bt fr apni study me lg jata tha n shaan ko bht ldkiyo lynch deti thi bt usne kbhi kisi ko haa nh kiya dono ek dusre ko man hi mn silent love karte rahi n aise hi dono ki 12th bhi ho gai n dono acche percent se pSs hue n after 12 th dono fb pr ae n shAn man hi man sochta tha ki shyd kajal fb pr mil jae ek month bad kajal ki id shaan ko dkhi n usne kajal ko request send kr diya n jb kajal ne shaan ki request dkhi wo bht khush hui n usne socha ki agr mai just request accept kr lungi to shaan ko lgega ki mai wait kr rh thi uska to kajal ne badi muskil se do din wait kiya n jldi se request accept kr liya n dono bs daily hii, hello krte n bye bol kr chle jate ek month tk dono ke bech koi jada bat nh hui frnd dono class ki bat krne lge n jb wo dono same school me the to kajal ka naam ek dusre ldke ke sth add kiya jata tha to shaan ek din baton hi baton me usko batane lga ki tmhra naam mere frnd ke sth add kiya jata h n wo tmko lyk krta h n usne mujhse bola h ki mai tmse uske liye bat kru to ye bat kajal ko bht buri lgi qki kajal ko lgta tha ki shaan bhi mujhko lyk krta h n kch din free kajal [email protected] ko ignore krne lgi n shaan uska pure din wait krta tha online bt kajal online ati thi n shaan ka reply bht late n thoda sa deti thi to shaan smjh gya ki kajal ko bura lga usne kajal se mafi mang li n kajal ne it’s ok bol diya n frnd shAn ne bola ki mai bs tmko chida rha tha mai uski wjh se bat nh kr rha tha mai tmko apni acchi frnd manta hun dono frnd acche frnd bn gae n kch din bad shaan ki online acchi frnd bn gai jiske Wa re me shaan kajal ko batata tha n kajal ye ja kr bura lgta tha bt shaan ko kch nh bolti thi bt shaan wait kr rha tha ki kajal kch chid kr bole bt kajal door door rhne lgi to shaan ne kajal ko majak me propose kiya ki wo bht lyk krta h to kajal ne usko mana kr diya qki kajal check kr rhi thi ye majak me bol rha ye real me frnd jb kajal ne mana kr diya to shaan ne bola wo to mai bs tmko pareshaan krne ke liye bol rha tha ki tum chud jao n frnd shaan ne new year pr kajal se jbrdsti new year card manga ki best frnd ho kr mujhe card nh dogi mai naraz ho jaunga to frnd kajal ne usko haan bol diya n new year pr dono ki milne ki planning ho gai n dono restaurant pr mile wahan pr shaan ne apne man ka order kiya sb kajal ko bola aj tum meri pasnd ka khaoge n dono ne paneer pakade n coffee pi n shaan ka man tbhi nh hai to usne kajal se bola chalo na khn ghumte hn to dono nee restaurant me gae n full day spend kiya n kajal ne shaan ko coffee cup diya n card diya n shaan bhi kajal ke liye card n watch laya tha frnd dono apne ghar chale gae n frnd dusre din shaan bahar jane wala tha to jane se phle usne kajal ko bulaya n kajL usse milne station gai n shaan ne usko station pr hi propose kr diya n shaan ne kajal se bola ki mai apni study n parents ksm kha rha hu ki tmse bht pyar krta hu n kajal to jaise wait kr rhi thi n kajal ne shaan se shaam tk ka tym manga n jb shaan apne hostel pahuncha to kajal se baat ki n usko haan bol diya n dono abhi tk ek dusre ke sth hn na to ek dusre se pdte n ek dusre se door hote hn n dono apni study me lge hn yh soch rhe jldi se khn set ho jae frnd hmse ke liye shadi krke sth ho jaenge.

  16. ‌‌‌आपकी कहानी काफी अच्छी लगी । ऐसी ही कहानी और शेयर करते रहें । पढ़कर काफी अच्छा लगा ।

  17. Meri prem khaani abhi tak puri nhi hui m bhi apki tara us se 8class m hi pyar hua tha aur mene usko bola bhi tha par wo nhi mani meri baat

  18. Kaash meri bhi ek girlfriend hoti aaj tak bahut ladkiyon se pyaar hua par kisi se dil ki baat nahi keh paya isliye koi girlfriend nahi bani par mujhe bhi koi chahiye esi jo mujhe pyaar kare or mai us se pyaar karu 😢

  19. अब कहाँ बचीं है लव स्टोरी.. आजकल तो ब्रेकअप होते हैं… वो भी हर हफ्ते

  20. we are looking er for a short story writer for our you tube channel Manraj Talkies. Kindly let us know if you are intereseted. Please go through our channel for reference.

  21. gjb ki story mujhe lagta thha ki sacha pyar ni hota letjin kahani ne meri aankhe khol di kya mai apka fb account ,email,ya kuchh bhi mujhe bta skte h plz

  22. Hello friends ..

    आज मै आपको अपने one side love की सच्ची कहानी सुनाने जा रहा हूँ,

    वैसे तो एकतरफ़ा प्यार की कहानियां भरी पडी हैं, जिन्में से एक कहानी मेरी भी है|

    मेरा नाम धर्मेंद्र है और जिस लडकी से मुझे इश्क़ हुआ था उसका नाम अंकिता था,
    हम दोनों हमउम्र थे | और हम अलग – अलग स्कूलों में 8 वीं क्लास में पढते थे |
    मेरी फैमली गांव से शहर में नई शिफ्ट हुई थी,
    शुरू मे मेरा उससे कोई खास लगाव ना था हम बस नार्मल दोस्त थे |
    हम शाम को साथ में खेला करते, –
    कभी कभी लड भी पडते थे, लडाई होने पर वो अपनी मां को शिकायत कर देती थी, फिर उसकी मां उसकी गलती होने पर भी मेरे घर शिकायत लेकर आती थी, इस पर घरवालों से मुझे ही डांट पडती, उसके बाद हम फिर एकसाथ खेलते और एक हो जाते |
    अंकिता बैडमिंटन अच्छा खेलती थी, उससे मैने भी खेलना सीखा |

    कुछ वक्त बीता हम 10 वीं क्लास में आ गए थे, मै पता नहीं क्यों मन ही मन उसे चाहने लगा था |
    उसकी मुस्कान और अदाएं मुझे भाने लगी थीं पर मुझमे अपने मन की बात उससे कहने का कान्फिडेनस नहीं था मुझे लगता था कि कहीं वो बुरा ना मान जाए |

    एक दिन दिवाली पर बडी हिम्मत करके उसे उसके घर के बाहर अकेले मे गिरिटिंग कार्ड दिया तो उसने मुस्कुराकर थैंक यू बोला उसे खुश देखकर मुझे बडी खुशी मिलती थी |

    एक दिन मैने अपने क्लासमेट को अपने और उसके बारे में बताया, वो थोडा निकला हुअा बंदा था, उसका नाम था अनुज |

    अनुज – क्या वो तुझे चाहती है?

    मैं – पता नहीं यार पर मैं बहोत चाहता हूँ उसे, पर वो सब समझती है एेसा मुझे लगता है |

    अनुज – पता करते हैं |
    मैं – कैसे

    अनुज – फिरेन्डशिप डे आने वाला है उस दिन तू उसे फिरेन्डशिप बैंड बांधना, फिर देखते हैं |

    मैं – नहीं यार कहीं वो बुरा ना मान जाए |
    अनुज – पागल.. बुरा नहीं मानेगी कोशिश तो कर

    मैं – ठीक है

    फिरेन्डशिप डे पर मेने वैसा ही किया मौका देखकर बैंड उसके हाथ मे देते हुए विश किया,
    बैंड बांधने की मेरी हिम्मत नही हुई,
    उसने मुस्कुराकर थैंक यू बोला और चली गई |

    मैने अनुज को सब बताया वो बोला अरे मेरे भोले यार वो तुझे नहीं चाहती, अगर चाहती तो तेरे सामने ही बैंड पहन लेती, उसके मन मे कोई और है शायद, यह सुन मुझे गुस्सा आया पर मेरे दिल ने यह बात स्वीकार नहीं की |

    उसके बाद मेने अंकिता पर गौर करना शूरू किया तो मुझे भी महसूस होने लगा कि उसे मुझमे कोई दिलचस्पी नहीं है,
    और पता चला की उसने कोई बोएफरेन्ड बना लिया है, अनुज ने ठीक कहा था, मेरे दिल को झटका लगा |
    फिर एक बार होली पर वो अपने घर के गेट पर खडी थी, मै रंग लगाने उसके पास गया,
    यह देख उसने मुझे रंग लगाने को मना कर दिया मैने कहा रंग नही पर एक टीका तो लगा दूं, उसने मना किया मै मान गया और वहां से हट गया |

    फिर मेने देखा गली के एक लडके ने उसके चेहरे पर रंग लगा दिया और अंकिता ने कुछ रिएक्ट नहीं किया, यह देखकर मै गुस्से से भर गया |
    मैने एक छोटी बाल्टी पानी भरा और अंकिता पर उडेल दिया वो पुरी भीग गई और मुझ पर चिल्लाने लगी और उल्टा बोलने लगी,
    पर पता नही यारो उस वक्त मेरे दिल मे कोई डर नहीं था|

    फिर मैने दोबारा बाल्टी भरी और उसकी अोर करते हुए बोला कि इसमें कोई बुरा मानने वाली बात नहीं है लो तुम डाल लो मुझ पर पानी,
    पर वो उल्टा बोलती रही, और मै टूटे दिल से चुपचाप अपने घर आ गया |
    पर उस दिन के बाद से मेने अंकिता से बोलना छोड दिया, उसने भी कभी साँरी नही बोला,

    पर कहीं ना कहीं आज भी उसके लिए मेरे दिल मे एक साफ्ट कार्नर है, और फिर कहीं और मेरा किसी से दिल नही लगा |
    “जीवन मे सच्चा प्यार एक ही बार होता है बार बार होने वाला प्यार – सच्चा प्यार नहीं होता” – सच कहा गया है
    धन्यवाद

    If you like my story then please share on your website.

  23. Sachcha pyar hamesha rang lata hai… Hamara pyar bhi rang laya I’m soooo happy….love you jaan. KhushiAyaz

  24. Bohot hi achhi or sachi love story h a esa peya Bohot kismt walo ko milt h Q aaj kl esa hogey h ki Kpde ki trh peyar chenj krte h log

  25. Hii…… I’m sahil khan 9783767676
    9828866786
    Nice Story
    Masha allah gorgeous👍😘
    Allan apko & apki family ko hamesha khush rakhe

    …..

  26. Meri bhi kuch aisi story hai main pahle chauthi class mein padhta tha aur mujhe a ladki se pyar hua uska naam Priyanka Ghosh hai lekin main abhi tak news ya baat nahi bata paya aur hua paanchvi class mein school chor chuki thi aap mein 11 class mein hoon ab mujhe samajh nahi aa raha hai ki main kya karoon lekin main abhi bhi usse pyar karta hoon agar aapko meri message ya mile to please please aap mere message ka reply karna ab mujhe Kuch Idea dena

  27. मैं आपके Site पर Guest Post करना चाहता हु जिसमे मेरा Back link रहे lovestoryinhindi95.blogspot.com

  28. Agar aap logo ko love story read karna aacha Lagta hai too pyarnow.com visit Kar yea aapko bahut aache aache story read Karne no milega! Pyarnow.com

  29. Dil Pata nahi kab kisse pyaar kar Bethe par ha Aaj Kal bhut kam log hai Jo pyaar ko Samaj pate hai warna bhut log to time pass bhi karte hai but sir Aapki story padh ke laga ki Aaj bhi hai koi insaan esa Jo love ko janta hai nice story

Close