जल्दी प्रेग्नेंट होने के टिप्स | How to Get Pregnant in Hindi with Easy Tips

ये कुछ जल्दी प्रेग्नेंट होने के टिप्स उन महिलाओं और पुरुषों के लिए बेहद लाभकारी हैं जो संतान प्राप्ति के इच्छुक हैं उन्हें How to Get Pregnant in Hindi के बारे में जरूर जानना चाहिए क्यूंकि प्रेगनेंसी के लिए सम्पूर्ण जानकारी आवश्यक है| प्रेग्नेंसी के लिए सबसे पहले आपको अपनी बॉडी के बारे में जानना पड़ेगा और प्रेग्नेंसी के पूरे प्रोसेस को समझना पड़ेगा तभी आप इसमे सक्सेस होंगे| दरअसल हमारे समाज में प्रेग्नेंसी जैसी बातों पर लोग ज़्यादा बात नहीं करते| यहाँ तक कि एक ही फैमिली में लोग ऐसी प्रॉब्लम्स आपस में भी Discuss नहीं करते और लोग आधे अधूरी नालेज के साथ प्रेग्नेंट होने की कोशिश करते हैं|

कई लोग इसमें सक्सेस भी हो जाते हैं और कुछ लोग सक्सेस नहीं हो पाते और इस विषय में काफ़ी लोग डॉक्टर से भी पूछने से कतराते हैं| कैसे आसानी से प्रेग्नेंट हुआ जाए? प्रेग्नेंसी का सही समय क्या है? लोगो को ऐसे सवालों का जवाब पाने के लिए बड़ा स्ट्रगल करना पड़ता है|

Pregnancy Tips

आज हम आपको इस विषय में थोड़ा Detail से बताएँगे कि कैसे आप आसानी से प्रेग्नेंसी धारण कर सकते है? और इस विषय में आपको डॉक्टर से भी ज़रूर राय लेनी चाहिए क्यूंकी कई बार प्रॉब्लम्स कुछ और होती है और हम सही प्राब्लम का पहचान नही पाते, तो चलिए हम आपको बताते प्रेग्नेंसी के बारे मे कुछ बढ़िया टिप्स-

How To Get Pregnant in Hindi

Ovulate Period का पता करें –

प्रेग्नेंट होने के लिए सबसे ज़्यादा ज़रूरी बात है – Ovulation time का पता होना| Ovulation time ऐसा टाइम है जब महिलाओं के अंडाशय(Ovary) से अंडे निकलते हैं| एक मासिक धर्म में एक ही बार ovulation period आता है और उसी समय आपको अपने पार्ट्नर के साथ physical relation बनाना है|

अपना Ovulation time जानने के लिए आपको अपने पीरियड का टाइम कन्फर्म होना बहुत ज़रूरी है| जब आपका अगला पीरियड आने का टाइम हो उसे just 12 से 16 दिन पहले का टाइम ovulation period होता है|

लेकिन ये तरीका केवल उन लेडीज के लिए जिनकी menstruation cycle यानी मासिक धर्म 30 दिन का है| अगर आपका मासिक धर्म का समय अनियमित है तो आप प्लीज़ किसी अच्छे डॉक्टर से जानकारी ज़रूर लें|

जैसे आपका अगला पीरियड अगर 30 September तो है तो इससे 12 से 14 दिन पहले का टाइम आपका ovulation time है|

Physical Relation का सही समय –

अब आपको पता चल गया होगा कि आपके ovary से अंडे कब निकलते हैं तो अब आप इस टाइम मे अपने पार्ट्नर के साथ फिज़िकल रीलेशन बना सकते हैं और आपको बता दें कि ovulation time के शुरुआती 3 दिन सबसे ज़्यादा fertile days होते हैं यानी इन 3 शुरुआती दिनों में गर्भधारण की संभावना सबसे ज़्यादा होती है|

महिलाओं की ovary से निकलने वाले अंडे केवल 24 घंटे तक ही जिंदा रहते है और पुरुष का स्पर्म फीमेल के अंदर 7 दिन तक जिंदा बना रहता है, तो डॉक्टर सलाह देते हैं कि आप एक दिन छोड़ कर अगले दिन फिज़िकल रीलेशन ज़रूर बनायें यानी 72 घंटे में एक बार फिज़िकल रीलेशन होना ज़रूरी है|

अगर आप रोजाना फिज़िकल होना चाहते है तो ये आप पर डिपेंड है लेकिन रोजाना फिज़िकल रीलेशन करने ने sperm count कम हो जाता है जो कि आपकी फर्टिलिटी में प्राब्लम कर सकता है, इसलिए एक दिन छोड़कर ही फिज़िकल रीलेशन बनाए|

नोट:- फिज़िकल रीलेशन के दौरान आयल या कोई अन्य चिकनाई का use करना भी आपके sperm count को कम कर देता है|

क्या करें और क्या ना करें

प्रेग्नेंसी के लिए आपकी बॉडी का फिट और स्वस्थ होना बेहद ज़रूरी है अन्यथा आपके होने वाले बच्चे पर इसके नेगेटिव एफेक्ट हो सकते हैं| अगर आप कोई ड्रग्स, नशा या स्मोकिंग करते है तो प्लीज़ ये सबसे दूर रहे| बहुत ज़्यादा कॉफी पीना भी नुकसान दे सकता है|

  • थोड़ा exercise करें, मॉर्निंग वॉक करें और अगर हो सके तो मेडिटेशन करने की कोशिश करें
  • पुरुषों के लिए स्मोकिंग करना sperm count को बहुत कम कर देता है इसलिए स्मोकिंग से दूर ही रहें
  • तम्बाखू, सिगरेट ना पियें
  • अपने वजन को कंट्रोल रखें, ज्यादा वजन होना भी प्रेग्नेंसी में प्राब्लम करता है
  • गर्म पानी से ना नहायें क्यूंकि गर्म पानी आपके शुक्राणुओं को नुकसान देता है

Pregnancy के लिए सही Age –

अगर आपकी उम्र 40 से ज़्यादा है तो आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए| अगर आपकी उम्र 35 – 40 है तो आप प्रेग्नेंसी के लिए ट्राइ कर सकते हैं और अगर 6 महीने तक सक्सेस नही हुए तो किसी एक्सपर्ट से चेकप कराए या advice लें| अगर आपकी उम्र 35 से कम है तो आपको प्रेग्नेंसी के लिए कोई प्राब्लम नही होनी चाहिए| आप आसानी से प्रेग्नेन्सी मे सक्सेस हो सकते हैं|

अगर आप 1 साल से ज़्यादा से ट्राइ कर रहे हैं लेकिन आप सक्सेस नही हो पा रहे तो प्लीज़ आप डॉक्टर से कन्सल्ट करिए क्यूंकी ये फर्टिलिटी प्राब्लम भी हो सकती है|

Pregnancy Ke Lakshan प्रेग्नेंसी के लक्षण –

क्या आप प्रेग्नेंट हैं? बहुत सारी महिलाओं को प्रेग्नेंसी के लक्षण पता नहीं होते और उनको 6 से 8 सप्ताह बाद अपनी प्रेग्नेंसी का पता चलता है|

अगर पहले सप्ताह में ही आपको प्रेग्नेंसी का पता चल जाए तो आप ज़्यादा अच्छे से खुद की देखभाल कर सकती हैं और ऐसा करना आप और आपके बच्चे की सेहत के लिए काफ़ी पॉज़िटिव होगा| चलिए जानते हैं क्या हैं प्रेग्नेन्सी के शुरुआती लक्षण-

खाना अच्छा ना लगना –

अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो आपको चाय और कॉफी से अजीब सी गंध आने लगती है| यहाँ तक की कुछ महिलाओं को फेवरेट खाना भी बुरा लगने लगता है| अगर आपके साथ ऐसा हो रहा है तो प्लीज़ आप डॉक्टर से चेकअप कराइये क्यूंकि ये प्रेग्नेंसी की शुरुआत का लक्षण है.

मूड में बदलाव आना –

प्रेग्नेंसी के दौरान बॉडी मे हॉर्मोनल चेंजस होते हैं, इस वजह से कुछ महिलायें प्रेग्नेंसी में काफ़ी इमोशनल फील करने लगती हैं, ये इमोशन पॉज़िटिव भी हो सकते हैं और नेगेटिव भी, कई बार होपलेस और डिप्रेशन जैसी फीलिंग आने लगती है और बॉडी मे थकान रहती है. आप डॉक्टर से सलाह लें

पेट पे सूजन –

कई बार पेट पे सूजन जैसी आ जाती है कुछ दर्द भी महसूस होता है| कुछ महिलाओं को ऐसे दर्द फील होता है जैसे जस्ट पीरियड होने से पहले होता है|

बार बार पेशाब आना –

बॉडी मे हॉर्मोनल चेंज की वजह से आपका ब्लड फ्लो बढ़ जाता है और किड्नी में ब्लड फ्लो हाइ होने से ब्लॅडर जल्दी भरने लगते हैं| इसलिए प्रेग्नेंसी में बार बार टॉयलेट जाना पड़ता है|

थकान होना –

क्या आपको अचानक ही बहुत थकान सी फील होने लगी है ? ये प्रेग्नेंसी के शुरूआती लक्षण हैं| हमेशा बॉडी मे कमजोरी सी रहती है और नींद जैसी आती रहती है| सुबह फीवर जैसा महसूस होता है तो आपको प्रेग्नेन्सी टेस्ट के लिए डॉक्टर के पास ज़रूर जाना चाहिए|

ब्रेस्ट मे दर्द –

कुछ महिलाओ को प्रेग्नेंसी के दौरान ब्रेस्ट मे दर्द होने लगता है| कई बार ब्रेस्ट में सूजन भी आ जाती है, ये सब आपकी बॉडी मे हॉर्मोनल चेंज की वजह से है|

जी मिचलाना (Nausea)–

कुछ महिलाओं को प्रेग्नेंसी में जी मिचलाना की शिकायत होती है| बॉडी में कमजोरी सी महसूस होती है और मिचली आने को होती है| कई बार उल्टिया भी होती हैं और कई बार बस जी मिचलता है और उल्टियां नही होती हैं|

पीरियड टाइम पर ना आना –

अगर आपको अपने period cycle का टाइम याद है और आपका पीरियड टाइम पे इसबार नही आया है तो ये प्रेग्नेन्सी का लक्षण हो सकता है|

डियर फ्रेंड्स, अगर ये सब लक्षण आपको अपनी बॉडी मे फील हो रहे हैं तो आप सबसे पहले डॉक्टर से प्रेग्नेंसी चेकअप करायें और अगर आप सचमुच प्रेग्नेंट हैं तो बेस्ट ऑफ लक, अपना और अपने बच्चे की सेहत का ख्याल रखें|

प्रेग्नेंसी में क्या करें और क्या ना करें

प्रेग्नेन्सी में माँ और बच्चे की सेहत का ध्यान रखना बेहद ज़रूरी है| प्रेग्नेन्सी में महिलाओं की बॉडी में काफ़ी चेंजस आते हैं और कई बार सही जानकारी ना होने के अभाव में प्रेग्नेन्सी काफ़ी कॉंप्लिकेट हो जाती है|

ऐसी प्रॉब्लम्स से बचने के लिए हम आपके साथ कुछ बाते शेयर कर रहे हैं जिनसे पता चलता है कि प्रेग्नेंट महिला को क्या क्या करना चाहिए और क्या क्या नहीं –

1. रेगुलर डॉक्टर से चेकअप कराते रहें –

आप अपने किसी नज़दीकी स्पेशलिस्ट डॉक्टर से time to time चेकअप कराते रहें| अगर कोई प्राब्लम है तो वो जल्दी ही पता लग जाती है और आसानी से ठीक भी हो जाती है इसलिए रेगुलर चेकअप बेहद ज़रूरी है|

2. Prenatal Vitamins का सेवन करें –

माँ और बच्चे के सही पोषण के लिए आपकी बॉडी को Prenatal Vitamins की बहुत ज़रूरत है| इन विटमिन्स को आप डॉक्टर से चेकप करा कर ही लें| Vitamins लेने से मदर और बच्चा दोनों की सेहत अच्छी होगी|

3. प्रोटीन खायें –

प्रेग्नेंट महिला को रोजाना 75 ग्राम प्रोटीन की ज़रूरत होती है लेकिन कई बार 100 ग्राम प्रोटीन प्रतिदिन भी चल जाता है| प्रोटीन खाने से बच्चे का माइंड डेवेलप होता है|

4. योगा और एक्सरसाइज करें –

सबसे पहले तो आप अपने खाने पीने का शेड्यूल बनाए और उसका सही से पालन करें| अनियमित खाना भी आपको नुकसान पहुँचा सकता है| इसके बाद आप हल्की एक्सरसाइज भी करे और योगा करें| योगा करने के लिए आप यूट्यूब वीडियो देख सकते हैं या किसी एक्सपर्ट से सलाह ले सकते हैं|

5. वसा का सेवन करें –

नॉर्मली हम लोग ज़्यादा फैट खाने से बचते हैं क्यूंकी इससे शरीर का मोटापा बढ़ता है लेकिन प्रेग्नेन्सी में आपको फैट उचित मात्रा में खाना चाहिए, फैट आपकी बॉडी को stretchable बनाता है|

6. Kegal एक्सरसाइज करें –

केगल एक मसल होती है और अगर ये muschle स्ट्रॉंग नहीं है तो महिला को प्रसव के दौरान बहुत दर्द होता है| यूट्यूब पर बहुत सारी केगल एक्सरसाइज वीडियो दी हुई हैं, आप उनको देखकर केगल एक्सरसाइज कर सकते हैं|

7. हाउस प्लांट्स लगाएं –

आज कल के माहौल में जाने अनजाने में हम काफ़ी रेडीयेशन और केमिकल्स से घिरे हुए हैं| ये सभी केमिकल्स हमारी बॉडी को नुकसान पहुचाते हैं| आप अपने घर में कुछ हाउस प्लांट्स लगायें इनसे माइंड में काफ़ी positiveness आती है और केमिकल्स के एफेक्ट भी कम होते हैं|

8. Be Positive and Think Good –

कहते हैं बच्चा माँ के पेट में ही बहुत कुछ सीखता है| प्रेग्नेन्सी के दौरान आप पॉज़िटिव रहें, अच्छी बुक्स पड़े, अच्छी मूवी देखें क्यूंकि आपके विचारों का सीधा प्रभाव आपके बच्चे पर पड़ता है|

9. लम्बी यात्रा से बचें –

थोड़ी वॉकिंग अच्छी है लेकिन प्रेग्नेन्सी में ज़्यादा यात्रा करना अच्छा नहीं है| कोशिश कीजिए कम से कम ट्रेवल किया जाए और अगर बस में ट्रेवल कर रही हैं तो सीट पर बैठकर ही ट्रेवल करें|

क्या ना करें –

1. धूम्रपान ना करें –

प्रेग्नेन्सी के दौरान स्मोकिंग ना करें| स्मोकिंग से बच्चे की हेल्थ में प्रॉब्लम्स हो सकती है| बच्चे का वजन कम होना या समय से पहले प्रसव होना, ये सब स्मोकिंग के ही दिक्कतें हैं. प्रेग्नेंट महिला को तो स्मोकिंग करने वाले लोगों से भी दूर रहना चाहिए क्यूंकि उनके स्मोकिंग का धुआँ भी आपको नुकसान कर सकता है|

2. शराब का सेवन ना करें –

शराब पीने से आपके होने वाले बच्चे में काफ़ी कमियां आ सकती हैं| बच्चों में विकलांगता इसी का उदाहरण है| आपको अपने बच्चे की हेल्थ का पूरा ध्यान रखना है तो ड्रिंक ना करें|

3. कॉफी ज़्यादा ना लें –

अगर आप ज़्यादा टी और कॉफी पीने की शौकीन हैं तो आपको अपनी इस आदत को प्रेग्नेन्सी मे छोड़ना होगा क्यूंकि ज़्यादा चाय और कॉफी पीने से बच्चे को डाइयबिटीस होने का खतरा है|

4. X-Ray ना करायें –

X-Ray के दौरान निकलने वाली किरणें बॉडी के आर – पार जाती हैं ये किरणें ह्यूमन बॉडी के लिए बहुत नुकसानदायक होती हैं जो आपकी बॉडी सेल को डैमेज भी कर सकती हैं| प्रेग्नेन्सी के दौरान X-Ray ना कराएं|

5. जंक फ़ूड ना खायें –

प्रेग्नेन्सी में जंक फुड खाने से बचें, ये सब फ़ूड एनर्जी नहीं देते बल्कि वेट बड़ा देते हैं| प्रेग्नेन्सी में महिलाओं का पहले से ही वजन बढ़ जाता है तो जंक फ़ूड खाने से आपकी बॉडी का साइज़ बिगड़ सकता है इसलिए जंक फ़ूड से दूर रहें|

तो मित्रों आज हमने आपको how to get pregnant in Hindi इस टॉपिक पर डिटेल में समझाया और उम्मीद करते हैं कि आपको इस लेख के माध्यम से काफी कुछ सीखने को मिलेगा,,,धन्यवाद

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

4 Comments

Close