कर कुछ ऐसा कि दुनिया बनना चाहे तेरे जैसा

आज मैं आपको कोई कहानी नहीं सुनाने वाला हूँ बल्कि आपसे एक सवाल पूछना चाहता हूँ। सभी के घरों में बच्चे होते हैं और इन बच्चों से सबसे ज्यादा पूछा जाने वाला सवाल पता है क्या है ? बेटा तुम बड़े होकर क्या बनना चाहते हो? ये बच्चों से सबसे ज्यादा पूछा जाने वाला सवाल है।

यक़ीनन आपके भी बच्चे होंगे और बच्चे नहीं तो छोटे भाई या बहन या कोई भी……..

जब एक पिता अपने बच्चे से पूछता है कि बेटा तुम बड़े होकर क्या बनना चाहते हो? तो 99% बच्चों का जवाब होता है –

मैं बिल गेट्स जैसा बनूँगा
मुझे मार्क जुकरबर्ग जैसा बनना है
मुझे टाटा बिड़ला बनना है
मुझे सचिन तेंदुलकर जैसा बनना है……. आदि

लेकिन जरा गौर से सोचिये आपका बच्चा बिल गेट्स या सचिन तेंदुलकर जैसा बनना चाहता है पर आपके जैसा क्यों नहीं ? आपका बच्चा उन लोगों जैसा बनना चाहता है जिन्हें वो ठीक से जानता भी नहीं बल्कि आप हमेशा अपने बच्चों के साथ रहते हैं लेकिन फिर भी 99% बच्चे कभी ये नहीं बोलते कि पापा मैं आपके जैसा बनना चाहता हूँ, कभी सोचा है क्यों ?

क्यूंकि आपने अपने बच्चों को केवल पाला है उनके सामने एक अच्छे इंसान होने का उदहारण कभी पेश नहीं किया, शायद आपने जीवन में कुछ बड़ा नहीं किया।

काश आपने भी अपने जीवन को कुछ अलग अंदाज से जिया होता…
काश आप भी एक सफल इंसान होते….
काश ये दुनिया आपकी फैन होती….
काश आपने जीवन में सफलता की बुलंदियों को छुआ होता…..

kar-kuch-aisa-ki-duniya-banna-chahe-tere-jaisa

तो आज जब आप अपने बच्चे से पूछते कि बेटा तुम कैसे बनना चाहते हो ? तो बच्चे का जवाब होता – पापा आपके जैसा ……..

दोस्तों क्यों ना हम लोग भी कुछ बड़ा करें, अपनी आने वाली पीढ़ी के सामने एक उदाहरण पेश करें जिससे आपके बच्चे किसी और के नहीं बल्कि आपके खुद के फैन हों। अपने जीवन को केवल जियो मत बल्कि बल्कि भरपूर जियो, खूब मेहनत करो, हमें तो आसमां की बुलंदियों को छूना है।

सोचिये कितना गर्व महसूस होगा जब आपके छोटे भाई बहन या आपके बच्चे दूसरे लोगों को आपकी मिसाल देंगे आपके जैसा बनने की कोशिश करेंगे। तो चलिए आज ही से कुछ बड़ा करने की कोशिश करिये और नीचे कमेंट करके हमें बताइए कि ये लेख आपको कैसा लगा ? छोटा जरूर है लेकिन ये लेख बहुत गंभीर है इसे गहराई से सोचना…….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

75 Comments

  1. Sahi kha apne sir…
    log hamara anusaran nahi anukarn karte hain.
    hum bolte kya hain usse zyda is bat ka fark padhta hai li hum karte kya hain.
    very nice article

  2. सही बात है। हमने कभी इस बात पर गौर किया ही नहीं है। यदि हमने पहले ही इस बात पर गौर किया होता और तदनुसार मेहनत की होती और नई बुलंदियां हासिल की होती तो आज हमारी नई पीढ़ी हमें ही अपना आदर्श मानती। अभी भी देर नहीं हुई है, चलिए आज से ही इस कार्य में जुट जाएं।

  3. apki story bhle hi choti hai, lekin isme bahut hi kam sabdoon mein bahut kuchh kaha gaya h …… i am happy to read this story.. ishki ek line mujhe bahut acchi lagi. wo ye ki ham kabhi ye nahi sochte ki hame hamare papa jaisha banna h, shayad isliye ki hamare friend circle ya society mein aisha koi nahi socta. apki ye thought bahut hatke h. ishne mujhe sochne par majboor kar diyaa..

  4. Really it is a nice story. I liked it heartily.There is a big example of inspirational stories. I shall want heartily you write such a tremendous inspirational stories. thanks for writing

  5. Mene aaj tak jitni bhi story padhi sab bahut achhe aur inspired karne wale hote hai.aapki story ‘gagar me sagar bharne’ wale hote hai.km sabdo me bahoot achhe wichar dete hai .aur ye motivational story aur bhi jayada achhi hai.thank you.

  6. My self Asif Siddikee I belong from Farrukhabad U.P I readed your post many times and when i read this post then this post is touching my hurt …

  7. Sir aapne jitana good article aaj hamare samane rakha h usase esa lagata hai jese koi mahan guru Hame rasta dikha raha ho ES BAAT Ko aajse mene manana shuru kar diya h May God bless you thank you very much

  8. Bhut acchi thinking h…..agr hm apni life m kuch nya kr k jayenge to hmare bhai bhen bhi hmse kuch sikenge…thank uh so much..

  9. Sahi kaha apne. Mujhe bhi aisa hi kuchh krna hai jisse duniya mere se sikh leke apne bachho ko sikhaye. Aur mai apne aap se bol saku Suraj tune kmaal kr diya. Thanks to this inspire realistic post.

  10. Hii my name is govind kumar yadav i am doing engineering it was very nice and motivational story. I like it. Aisi article padhane se ek ahsas Ho ek filing aati h andar se jindagi se judi bahot sari problems ka solution v mil jata h. Thanks for write it. ………aise hi kuchh likhte rhe kya pata kisi ki jindagi ki raj use mil Jay. .

  11. Very nice line this story
    Yah bhaut achii soch ape ne.kahni ke madheyam apene btaya .ke dunya apeke nam se jane.
    Thank you……………..

  12. देखन में छोटे लगे, घाव करे गंभीर।
    १०० % सोचने की बात है, सर!

  13. देखन में छोटे लगे, घाव करे गंभीर।

  14. Lakshya- yojana- mehnat- ekagrata- shant- utsah- nidar- dhairya- aatmvishvash- santusti- prayash- sakaratmak soch- samay
    Sir maine manushya ke soch aur bhavnao ko krambaddh kiya hai. Kripaya is par aap apna salah de.

Close