सोच का फ़र्क Change Your Attitude & Perspective {Hindi}

एक शहर में एक धनी व्यक्ति रहता था, उसके पास बहुत पैसा था और उसे इस बात पर बहुत घमंड भी था| एक बार किसी कारण से उसकी आँखों में इंफेक्शन हो गया|

आँखों में बुरी तरह जलन होती थी, वह डॉक्टर के पास गया लेकिन डॉक्टर उसकी इस बीमारी का इलाज नहीं कर पाया| सेठ के पास बहुत पैसा था, उसने देश विदेश से बहुत सारे नीम- हकीम और डॉक्टर बुलाए|

change your thoughts

एक बड़े डॉक्टर ने बताया कि आपकी आँखों में एलर्जी है| आपको कुछ दिन तक सिर्फ़ हरा रंग ही देखना होगा, अगर कोई और रंग देखेंगे तो आपकी आँखों को परेशानी होगी|

अब क्या था, सेठ ने बड़े बड़े पेंटरों को बुलाया और पूरे महल को हरे रंग से रंगने के लिए कहा| वह बोला- मुझे हरे रंग से अलावा कोई और रंग दिखाई नहीं देना चाहिए, मैं जहाँ से भी गुजरूँ, हर जगह हरा रंग कर दो|

इस काम में बहुत पैसा खर्च हो रहा था लेकिन फिर भी सेठ की नज़र किसी अलग रंग पर पड़ ही जाती थी क्यूंकी पूरे नगर को हरे रंग से रंगना को संभव ही नहीं था, सेठ दिन प्रतिदिन पेंट कराने के लिए पैसा खर्च करता जा रहा था|

वहीं शहर का एक सज्जन पुरुष गुजर रहा था, उसने चारों तरफ हरा रंग देखकर लोगों से कारण पूछा|

सारी बात सुनकर वह सेठ के पास गया और बोला सेठ जी आपको इतना पैसा खर्च करने की ज़रूरत नहीं है, मेरे पास आपकी परेशानी का एक छोटा सा हल है.. आप हरा चश्मा क्यूँ नहीं खरीद लेते फिर सब कुछ हरा हो जाएगा|

सेठ की आँख खुली की खुली रह गयी उसके दिमाग़ में यह शानदार विचार आया ही नहीं वह बेकार में इतना पैसा खर्च किए जा रहा था|

तो मित्रों, जीवन में हमारी सोच और देखने के नज़रिए पर भी बहुत सारी चीज़ें निर्भर करतीं हैं कई बार परेशानी का हल बहुत आसान होता है लेकिन हम परेशानी में फँसे रहते हैं| तो मित्रों इसे कहते हैं सोच का फ़र्क|

कुछ अच्छी कहानियां पढ़िए –
रतन टाटा के हिन्दी उद्धरण
कैसे बढ़ाएँ आत्मविश्वास
सोच को दे नई उड़ान
ईश्वर कि मर्जी पर रहे खुश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

66 Comments

      1. Sr mysr i m ranjeet khinchi from mp my qualification is 12 th pass nd now studying i want work with my study plzz call me my contact 9575611844

  1. jise bhi jindagi me.safal hona ho.vo muze.email kare.mere pas ek marg he jo us raste par chal raha hu.agar aap bhi jindagi me safal hona chahte he to…muje [email protected] par email karo…plz vishwas karna

  2. sir m b.tech 3rd year ka student hu, but abhi tk mera koi laksy nhi h,me nhi janta sir ki mera laksy kya h, me decide hi nhi kr pata ye SB, ki me kya krna cahta hu or kya nhi, bs pdai krta rahta hu, ha PR kbhi kbhi sochta hu toh lgta ki mujhe khud ka busniss krna h, PR kya kru kuch smjh m nhi aata, .mere papa ki salary b jyada nhi h, WO ek farmer h, so fir me sochta hu ki me khud ka busniss kaise kru, or kru toh konsa busniss kru? me bhut confuse rahta hu sir,plz koi solution btao sir? papa bolte h ki gov.job krni h, me bhi cahta hu job kru, but busniss kru toh or accha rahega so plz help me sir?

  3. Hi,
    Mene M.Com kiya h . abhi m accounts ki job karta hu. is field m grow k chances kafi slow h.
    m chahta hu ki m business karu. but kya karu confuse hu. money bhi bahut kam h. salary m se kuch save ni ho pata h.
    so please advice me.

  4. friends kabhi kabhi ap life me ek ease stage pe chale jate honki vaha aap ko kuch achaa nahi lagta aap pure din sad sochnaa depression mind apsate or fill finally aap suside kaa vi soch lete ho dear problem he to solution bi he yr ap agar depression me ho koi way nahi dikh raha h plz msg me i help u i solv ur problem plz share me with yr problem …. on whatsapp 8290797946 plz msg me i solv ur problm 8290797946 only whatsapp ….

  5. बहुत ही अच्छी कहानी है यह प्रेरणादायक कहानियाँ जीवन को उन्नति की और अग्रसर करने के लिए और उत्साह बढ़ने के लिए एक उत्प्रेरक की तरह है धन्यवाद

Close