वास्तव में चौंकाने वाले हैं भारत में गरीबी के ये आंकड़े Facts About Poverty in India

Statistics about India Poverty

poverty-in-indiaयूँ तो हमारे भारत में एक से बढ़कर एक अमीर लोग रहते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट के अनुसार भारत की गिनती गरीब देशों में होती है और इसका मुख्य कारण है – अशिक्षा और घटिया health services। आइये जानें गरीबी से जुड़े हमारे भारत के कुछ आंकड़े –

1. Poor children of India – गरीबी के कारण भारत की करीब आधी जनसँख्या मात्र 13 वर्ष की आयु से पहले ही स्कूल जाना छोड़ देती है

2. दुनिया के एक तिहाई गरीब भारत में रहते हैं

3. The main causes of poverty- भारत में गरीबी का मुख्य कारण अशिक्षा और बढ़ती जनसँख्या है

4. बेरोजगारी भारत की मुख्य समस्याओं में से एक है, केवल 10 में से 1 व्यक्ति के पास ही अच्छी नौकरी या कारोबार है

5. 2012 की गणना के अनुसार, भारत की करीब 37% जनसँख्या गरीबी रेखा से नीचे जीती है

6. पानी की समस्या और आधुनिक खेती के अभाव की वजह से बहुत सारे किसान अपने परिवार का पेट भरने लायक भी अनाज नहीं उगा पाते

7. एक UNICEF की रिपॉर्ट के अनुसार, दुनिया का हर तीसरा कुपोषित बच्चा भारत में रहता है जिनमें 46% बच्चों की उम्र 3 साल से भी कम है

8. भारत में सबसे ज्यादा बाल विवाह किये जाते हैं

9. भारत में कुछ दहेज़ जैसी कुप्रथाओं की वजह से गरीब परिवारों में लड़कियां जन्म के बाद ही मार दी जाती हैं

10. भारत के सबसे गरीब क्षेत्र – राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखण्ड, उड़ीसा, छत्तीसगढ़ और पश्चिमी बंगाल हैं

11. World Bank के अनुसार, 2009 तक भारत में करीब 2 लाख लोग HIV /AIDS से पीड़ित हैं

12. भारत में महिलाओं को पुरुषों से कम सैलरी दी जाती है। एक समान काम करने पर भी महिलाओं को केवल पुरुषों की 62% सैलरी के बराबर तनख्वाह मिलती है

13. World Health Organization के अनुसार भारत में करीब 98,000 लोग हर साल डायरिया से मर जाते हैं

वैसे भारत में इस गरीबी को हटाया जा सकता है क्यूंकि यहाँ संभावना और विकास की कमी नहीं है लेकिन उससे पहले हम सबको मिलकर लोगों को गरीबी से लड़ने में मदद करनी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

One Comment

  1. Bahut dukh ki baat hai, bahut – bahut.. dukh ki baat hai aur dukh jahir karne se nahee hoga.. hum sabhi yuvao aur sabhi log milkar kuchh karna hoga jisse bharat ki garibi kam ho..

Close