स्वामी विवेकानन्द हिंदी कहानियाँ – दिमाग की शक्ति

Swami Vivekananda Ki Kahani
Swami Vivekananda Ki Kahani

एक बार स्वामी विवेकानन्द के पास एक आदमी आया और पूछा – कि प्रभु! भगवान ने हर इंसान को एक ही जैसा बनाया है फिर भी कुछ लोग अच्छे होते हैं , कुछ बुरे , कुछ सफल होते हैं , कुछ असफल ऐसा क्यों ?

स्वामी जी निम्रतापूर्वक कहा कि मैं तुम्हें एक कहानी सुनाता हूँ, ध्यान से सुनो – कहा जाता है कि ये धरती रत्नगर्भा है यहाँ जन्म लेने के लिए देवी देवता भी तरसते हैं ।

एक बार है कि देवी देवताओं की सभा चल रही थी कि इंसान इतना विकसित कैसे है ? कैसे वह इतने बड़े बड़े लक्ष्य को प्राप्त कर लेता है ? ऐसी कौन सी शक्ति है जिसके दमपर इंसान असंभव को संभव कर डालता है ।

सारे देवी देवता अपने अपने विचार रख रहे थे कोई बोल रहा था कि समुद्र के नीचे कुछ ऐसा है वो इंसान को आगे बढ़ने को प्रेरित करता है , कोई बोल रहा था कि पहाड़ों की चोटी पर कुछ है ।

अंत में एक बुद्धिमान ने जवाब दिया कि इंसान का दिमाग ही ऐसी चीज़ है जो उसे हर कार्य करने की शक्ति देती है ।

मानव का दिमाग एक बहुत अदभुत चीज़ है जो इंसान इसकी शक्ति को पहचान लेता है वह कुछ भी कर गुजरता है उसके लिए कुछ भी असंभव नहीं है और जो लोग दिमाग की ताकत का प्रयोग नहीं करते वो लोग जीवन भर संघर्ष ही करते रह जाते हैं ।

हर इंसान की जय और पराजय उसके दिमाग के काम करने की क्षमता पर ही निर्भर है । ये दिमाग ही वो दैवीय शक्ति है जो एक सफल और असफल इंसान में फर्क पैदा करती है । सारे देवी देवता इस जवाब से बड़े प्रसन्न हुए ।

स्वामी जी ने आगे कहा – आप जैसा सोचते हैं , आप वैसे ही बन जायेंगे , आप खुद को कमजोर मानेंगे तो कमजोर बन जाओगे , खुद को शक्तिशाली मानोगे तो शक्तिशाली बन जाओगे। यही फर्क है एक सफल और असफल इंसान में

कुछ प्रेरणादायी कहानियां –

सफलता का रहस्य
स्वामी विवेकानंद की जीवनी
लक्ष्य- सफलता का सूत्र
रतन टाटा के हिन्दी उद्धरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

41 Comments

  1. Mera naam dhanraj rao hai me 38yrs ka hoo 17saal mene bahooth mehnath kia ab mere paas na me heavy kaam se dipression me tha mene achanak meri factory bandh kardi kisine kaha ki mujhe black magic hua hai me bahooth pareshan hoo mujhe kya karna hai pata nahi chalra ha hai mera no 9341280279 me bangalore se hoo jo karnataka india me hai plz koi mujhe help karey me nishta se kaam karunga ek mouka plz dijiye plz its my humble request

  2. ye ek station hai motivation station subh ke 15 min agr is site ko de na to pura din ek alag confidance ke sath gujarta hai kyuki har kam me kuch na kuch pdhi hui bat yad aati hai aur har kam me pure aatmvishwas ke sat hr kam pura hota hai aur aisa krte krte hamari thinking hamesakeliye positive ban jati hai kitna bhi bura hua ho pr hame usme kuch achai hi dikhai deti hai puri life best of best aur ek jaduhi confidance mil jata hai bas thodi thinking badalneki jarurat hai aur ye thinkin tab badlegi jb ham kisi mahan vicharovale vyakti ko apna bhagvan bana de jaise mere bhagvan hai S VIVEKANAND… Thank u…

  3. agar in kahanio ko par kar kisi ne safal hone ka parias kia ho or bo safal ho gea ho to please mere saath share kare kio k mai v life me kuj acha karna chata ho kuch banna chahta hu please muje mail kare meri MAIL ID. [email protected] thanks for your support.

  4. Nice thoughts which inspire to live a life with great qualities
    and also motivate to others and we share our ideas to each other and make positive environment in family,society,state,country as well as world.

  5. “उठो, जागो और तब तक रुको नहीं जब तक मंजिल प्राप्त न हो जाये,।।”मै,स्वामी जी,के विचारो से अत्यधिक प्रेरित हूँ।

Close