शानदार HindiSoch.com का बड़ा कीर्तिमान – 1 लाख Pageviews

हिंदीसोच के सभी पाठकों और चहेतों के लिए ये बड़ी ही खुशखबरी की बात है। मुझे ये बताते हुए बड़ी ख़ुशी हो रही है कि 28 जुलाई 2016 को हिंदीसोच ने एक नया कीर्तिमान हासिल किया और ये कीर्तिमान था – “1 लाख pageviews का” हिंदीसोच पर पहली बार 28 जुलाई को 1 लाख pageviews हुए। आज से पहले कभी मैंने अपने और हिंदीसोच के सफर में बारे में नहीं बताया लेकिन आज मैं आपके साथ हिंदीसोच की एक इंटरेस्टिंग स्टोरी शेयर कर रहा हूँ – पढियेगा जरूर –

July month traffic
July Month Traffic -July 2016

आज से करीब 5 साल पहले 2011 में मैंने अपना बी टेक् complete किया था उन दिनों भारत में मंदी का माहौल था। यही कारण था कि टॉपर स्टूडेंट होने के बावजूद भी मुझे अच्छी नौकरी नहीं मिल रही थी। मैंने इंटरमीडिएट में भी जिले में टॉप किया था।

नौकरी की तलाश में, 1 महीना बीता, दूसरा बीता, तीसरा बीता ऐसे ही धीरे धीरे 6 महीने गुजर गए लेकिन अच्छी नौकरी नहीं मिली। मैं आपको बता दूँ कि मैंने इलेक्ट्रॉनिक्स में बी टेक किया था और इन दिनों मैं काफी निराश रहने लगा था। कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करूँ, बैंक से पढाई के लिए लोन लिया था, उसको भी चुकाना था और परिवार की आर्थिक स्थिति भी सुधारनी थी।

मैं खुद से काफी गुस्सा और निराश रहने लगा था। फिर एक दिन मैं इन्टरनेट पर कुछ मोटिवेशन के बारे में पढ़ रहा था तभी मेरी नजर अच्छीखबर(AKC) पर पड़ी। मुझे ये वेबसाइट बहुत अच्छी लगी, उस दिन मैंने akc की एक स्टोरी पढ़ी – “कैसे बना मैं World’s Youngest CEO” ये सुहास गोपीनाथ की कहानी को पढ़कर मुझे करंट सा लगा। मेरे अंदर इतना आत्मविश्वास भर गया कि मैं बता नहीं सकता।

मैंने सोचा जब एक 18 साल का लड़का अपनी कंपनी खोल सकता है तो मैं क्यों नहीं ? वो 8 th क्लास का बच्चा वेबसाइट बना सकता है तो मैं क्यों नहीं ? मैंने तो बी टेक किया है। यकीन मानिये इस कहानी का जूनून मुझ पर इस कदर सवार हुआ कि मैंने इलेक्ट्रॉनिक्स में नौकरी ढूँढना छोड़कर सुहास गोपीनाथ की तरह सॉफ्टवेर फिल्ड में नौकरी ढूँढना शुरू कर दिया। शुरुआत में कई टीचर और दोस्तों में मुझे चेतावनी भी दी कि मैंने इलेक्ट्रॉनिक में इंजीनियरिंग की है तो इसी में नौकरी करनी चाहिए। अपना फिल्ड छोड़कर सॉफ्टवेर फिल्ड में जाना घातक हो सकता है।

लेकिन गोपाल मिश्रा जी की उस कहानी ने मेरे अंदर इतना जूनून पैदा कर दिया कि मैंने सॉफ्टवेर में ही कैरियर बनाने का फैसला ले लिया। अपनी लाइफ का गियर बदला और जूनून मुझ पर इस तरह हावी था कि पहले ही इंटरव्यू में मुझे एक सॉफ्टवेर कंपनी में अच्छी नौकरी मिल गयी। कहाँ मैं 6 महीने से नौकरी तलाश कर रहा था और अब एक झटके में अच्छी नौकरी मिल गयी। इसके लिए मैं गोपाल जी को दिल से धन्यवाद देना चाहूंगा क्योंकि मैंने कभी सोचा भी ना था कि मैं इलेक्ट्रॉनिक फिल्ड छोड़कर सॉफ्टवेर में कैरियर बनाऊंगा।

Pawan Kumar - Hindi Sochफिर मैं अपनी जॉब में व्यस्त हो गया। वक्त भी पंख लगाकर उड़ता गया, अक्टूबर साल 2013 में मैं achhikhabar.com पढ़ रहा था, तब मुझे ये नहीं पता था कि इस वेबसाइट से कैसे कमाई होती है? कितनी कमाई होती है? लेकिन मेरे मन में एक ख्याल आया कि क्यों ना मैं भी akc की तरह लोगों को प्रेरित करूँ, क्या पता मेरी वजह से भी लोगों के जीवन में बदलाव आने लगे। बस यही सोचकर मैंने hindisoch.com डोमेन खरीदा और लग गया लोगों को मोटीवेट करने में।

सच कहूँ तो मैंने ये वेबसाइट पैसा कमाने के लिए नहीं बनाई थी, मुझे तो पता भी नहीं था कि इससे कैसे पैसे कमाए जायेंगे। मेरा लक्ष्य था akc की तरह लोगों को positive बनाना। यही कारण है कि हिंदीसोच की शुरुआत बहुत धीमी रही और डेढ़ साल बाद भी हिंदीसोच का ट्रैफिक मात्र 500-600 pageviews ही था।

फिर एक दिन मैंने akc पर पढ़ा कि adsense ने हिंदी भाषा को सपोर्ट करना शुरू कर दिया है। एक बार फिर akc ने मेरी लाइफ में गियर डाला और हिंदीसोच को एक नया जन्म दिया। जी हाँ, यूँ तो हिंदीसोच डोमेन मैंने 2013 में खरीद लिया था लेकिन हिंदीसोच का असली जन्म जनवरी 2015 में हुआ जब हिंदीसोच को गूगल एडसेंस से approval मिला। मैं जनवरी 2015 में हिंदीसोच का असली जन्म मानता हूँ।

फिर मैंने अपनी पूरी ताकत और लगन से हिंदीसोच पर काम करना शुरू किया। शुरुआत में ये केवल एक काम था लेकिन ये अब मेरा passion बन चुका था। और आज करीब डेढ़ साल में ही हिंदीसोच पर 1 लाख pageviews होने लगे हैं।

जी हाँ! शुरुआत में डेढ़ साल तक हिंदीसोच पर मात्र 500 pageviews होते थे और अगले डेढ़ साल में हिंदीसोच 1 लाख pageviews तक पहुँच गया। आज रोजाना मुझे ढेरों sms, कॉल्स और ईमेल आते हैं और लोग मुझसे प्रेरित होकर धन्यवाद देते हैं। ये क्षण वास्तव ख़ुशी देने वाले होते हैं। मैं इसका श्रेय काफी हद तक akc को देना चाहूंगा जिसकी वजह से मेरी लाइफ में कई सकारात्मक चीजें आयीं। धन्यवाद गोपाल जी

आज हिंदीसोच से प्रेरित होकर कई लोगों ने भी ब्लॉग बनाये हैं और मैं उन सबके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ। बहुत सारे लोग टॉप हिंदी ब्लॉग की सूची में हिंदीसोच का नाम लिखते हैं ये देखकर बहुत ही हर्ष होता है।

मैं आशा करता हूँ कि आप सभी लोग इसी तरह हिंदीसोच से जुड़े रहेंगे और हिंदीसोच ऐसे ही आप सबको पॉजिटिव बनाता रहेगा।

आगे क्या है लक्ष्य – मैं अभी भी गुड़गांव में एक सॉफ्टवेर कंपनी में काम कर रहा हूँ और मैं आने वाले 2 -3 महीने में अपनी इस जॉब को अलविदा कहने वाला हूँ और इसके बाद मैं पूरी तरह एक प्रोफेशनल ब्लॉगर बन जाँऊगा। मुझे पूरी उम्मीद है कि हिंदीसोच आगे भी कई और बड़े कीर्तिमान स्थापित करेगी।

कैसा रहा अनुभव – ब्लॉग्गिंग को लोग अभी एक कॅरियर की तरह नहीं मानते लेकिन मेरा अनुभव कहता है कि इससे मजेदार फिल्ड दूसरा हो ही नहीं सकता। ये वास्तव में बहुत इंटरेस्टिंग फिल्ड है और आने वाले समय में ब्लॉग्गिंग और भी बड़े स्तर पर फ़ैल जाएगी ऐसी मुझे उम्मीद है।

क्या है रिस्क – 90% ब्लॉगर की इनकम साधन एडसेंस है और एडसेंस एक बहुत ही sensitive नेटवर्क है। यहाँ आपकी एक गलती भी माफ़ नहीं की जाएगी, ये ब्लॉग्गिंग का सबसे बड़ा रिस्क है और एक बार बैन होने के बाद एडसेंस कभी दुबारा उस वेबसाइट पर एडसेंस नहीं देता।

वैसे एडसेंस कमाई का एक बढ़िया साधन है ये भी कहना बिलकुल गलत नहीं है। और ब्लॉग्गिंग एक ऐसा मजेदार फिल्ड है जिसे टेक और नॉन टेक सभी तरह के लोग कर सकते हैं और हिंदीसोच की तरह अच्छी कमाई कर सकते हैं।

so keep smiling and enjoy!!!!!!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

33 Comments

  1. वैसे तो यह सब बाते मुझे आपने काफी समय पहले बता दी थी, पर आपकी सक्सेस स्टोरी को ऑनलाइन देख कर मुझे भी काफी अच्छा लगा और इस तरह के मोमेंट वाकई में काफी मोटीवेट करते है.
    इस स्टोरी को अपने ब्लॉग के अबाउट पेज में लिंक कर दे. और ऐसे ही अपनी गति बनाये रखे. इसके साथ में हिंदीस्पॉट के लिए महनत तो मेरी चल ही रही है और आप भी दुआ करे की मेरी कामयाबी की कहानी में अपने ब्लॉग पर जल्द ही शेयर करू.
    और इसके साथ में मैं आपको धन्यवाद् करना चाहुगा क्योंकि मैंने अपनी ब्लोगिगंग की जिंदगी में आपसे बहुत कुछ सिखा है और सिख रहा हु.

    1. धन्यवाद शकील, और मैं चाहता हूँ कि बहुत जल्दी तुम भी कामयाबी की कहानी शेयर करो… keep it up

  2. Hi Pawan

    आपकी इस महान उपलब्धि पर बहुत बहुत बधाई हो! आपके स्कूल और इंजीनियरिंग में टॉपर होने के बाद भी अच्छी नौकरी ना मिल पाना हजारों-लाखो युवाओं का दर्द है. लेकिन जो champion होते हैं वो दर्द को सहना और उसे success में बदलना जानते हैं….और आप सचमुच एक चैंपियन हैं!

    Thank you कि आपने अपनी इस कामयाबी में AKC के role को acknowledge किया. मेरे लिए ये गर्व की बात है कि मेरे किसी काम से किसी की पूरी लाइफ ही बदल गयी…और उससे भी बड़ी बात कि जिसकी लाइफ बदली उसने भी कईयों की लाइफ बदल दी….It is like a chain reaction…

    चलिए हम सब अपने-अपने हिस्से का काम करते रहें और अपने-अपने हिस्से की positivity spread करते रहें .

    Thank You!

    1. गोपाल जी आपका हिंदीसोच पर ये पहला कमेंट है और सच बताऊँ तो इतनी ख़ुशी मुझे किसी और के कमेंट को देखकर कभी नहीं हुई जितनी आज आपके कमेंट को देखकर हुई… Thanks again

  3. बहुत अच्छे पवन भाई.. मजा आ गया पढ़कर. मुझे वही आर्टिकल सबसे ज्यादा पसंद आते हैं तो खुद पर लिखे गए हो. जैसे-जैसे समय गुजरेगा हिंदी सोच को 1 लाख से 10 लाख तक पहुंचने में समय नही लगेगा. ये तो एक शुरूआत हैं अभी बहुत दूर तक जाना हैं. हिंदी ब्लाॅगिंग को इंगलिश के साथ खड़ा करना हैं और ये सब आप जैसें ब्लाॅगरों से ही संभव हो पाएगा. जल्द ही जाॅब को अलविदा कहकर खुद का बाॅस बनकर अपने परिवार के साथ नई जिंदगी की शुरूआत करे. धन्यवाद.

  4. Pawan ji sach kahu to apki success ko dekhte hue to aisa lg rha h aap age chalkar aur jyada success honge. Aur me asha krta hu aisa hi ho. App jaise kahani likhte ho na usse dekh kr lagta h m bhi vaisa hi bn jauga. Really sir hats of you many many congratulation for your wonderful success….

  5. पत्थर पर जब तक चोट नहीं लगती वो पूजने योग्य मूर्ति नहीं बनता, आपने भी उसी तरह मुश्किलों का सामना किया और यह मुक़ाम हासिल किया। …..i feel proud to say u r my big brother…..hats off …..

  6. Hello Pawan really its called passion…..!!!

    Ye sab sacchi lagan or hard work ka natija hai…

    Keep it up……. @vipinlambha91

  7. Aap Sach me un vyaktiyon me se hain. jnka es yug me mil paana bahut mushkil hota hai. Har Najariye se aap bahut achhe blogger ke sath sath honest person hai. Mene Dekha hai bahut se blogger apne Competitor se jalte hain. Or apne Competitor ko achhi-achhi batein kahkar fuslaa kar unse Unke blog ki Info jankar uska galat use karte hai. .. Lekin aap un kuch gine chune vyaktiyon me se hai jo ki apne competitor se nahi jalte. yaa yunh kahe ki unke baare me bura nhi sochte or na karte hai.

  8. बहुत बहुत बधाईया पवन जी , आपकी सफलता को देखकर काफी हिंदी ब्लॉगर का उत्साह बढ़ेगा क्योंकि अभी तक हम केवल AKC को हिंदी ब्लॉग्गिंग में अपना आदर्श मानते थे लेकिन अब गोपाल जी के अलावा भी आप जैसे ब्लॉगर हिंदी ब्लॉग्गिंग की प्रेरणा बन रहे है जो हिंदी ब्लॉगर के लिए अच्छा संकेत है | आपकी आय के बारे में जिन्होंने पूछा था उनमे मै भी एक हु क्योंकि हर कोई आपकी आय के बारे में जानना चाहता था और पहली बार आपने आपकी आय के संकेत देकर ओर अधिक उत्साहवर्धन किया है | आपकी सफलता के बारे में मैंने चार महीने पहले एक आर्टिकल भी लिखा था जिसे आप जरुर पढ़े | gajabkhabar.com/top-10-popular-hindi-blogs-in-india

    1. राजकुमार जी हिंदीसोच को आपकी वेबसाइट पर देख कर मुझे सच में बहुत ख़ुशी हुई,, और ये तो आप लोगों का प्यार और उत्साहवर्धन है जो हिंदीसोच आज यहाँ तक पहुँच पाया ..

      मैं आपको दिल से धन्यवाद देता हूँ

  9. बहोत बढ़िया पवन कुमार,
    आप न केवल अपने लक्ष्य को हाँसिल कर चुके है बल्कि दुसरो के लिए प्रेरणा स्त्रोत भी बन रहे है। वैसे तो मैं आपसे फोन द्वारा कई बार चेटिंग कर चूका हूँ और हर बार आपका पॉजिटिव और समय पर रिप्लाय मिल जाता है इस लिए मैं आपको धन्यवाद देना चाहूँगा। क्योंकि मैंने ऐसे बहोत से ब्लॉगर देखे है जो खुद सफल हो जाने के बाद अन्य नए ब्लॉगर को गाइडलाइन देने में दिलचस्पी नही रखते।

    आप निरंतर आगे बढ़ते रहे ऐसी शुभकामनाएं।

  10. बहुत बहुत बधाई पवन | आप जैसे हिंदी ब्लॉगरों ने यह साबित कर दिया है कि हिंदी ब्लॉग्गिंग का भविष्य सुनहरा है| हिंदीसोच.कॉम की यह सफलता न केवल आपके लिए ख़ुशी का पल है बल्कि सभी हिंदी ब्लोग्गर्स के लिए ख़ुशी की बात है क्योंकि इससे सभी हिंदी ब्लोग्गर्स प्रेरित होते है | आपकी इस सफलता के लिए बहुत बहुत बधाई | मैं उम्मीद करता हूँ कि सभी हिंदी ब्लोग्गर्स मिलकर इन्टरनेट पर हिंदी भाषा के कल्याण के लिए कार्य करें |

  11. hello , pawanji me apke blog ka pichhle 8/9 mahine se visitor hoon . maine shayad apki har post Padhi hai aur akc ki bhi .jeevan me hare hue aur kuch karna chahte ho aise logo ke liye apka blog best hai .

      1. sir,mera question hai ki
        1) sirf 1.5 saal me itna traffic apne kaise achieve kiya ?
        2) apke jyadatar readers organic search se ate hai ya koi social site se?
        3) apne bataya hai ki pahele mera page view 500 per day tha to fir apne ise kaise possible kiya ? ap apni post kaunsi social site par publish karte ho?
        4 ) mera manna hai tab tak to blogging sirf hard work se nahin chalta.isme hard work + smart work bhi karna padta hai . sir I m right or no?
        aur sir please mera blog check karke batao ki main sahi kar raha hoon ya nahin ? aur kuch improve karna ho to wo bhi batana.

        1. Ravi,, sach btau to traffic lane ka sabse bada mantr yhi hai ki regular post kro aur wo post kro jo user pasand kare

  12. शानदार और जबरदस्त , बहुत ही प्रेरणादायक अगर आपका कोई Technical ब्लॉग भी है तो उसमे Please ये जरूर बताये की कैसे आपने मात्र 1 साल और 6 महीने में अपना Traffic इनता बड़ा लिया

  13. Hi Pawan ji,

    Aapki aur apke blog ki safalta ke baare me padh kar mujhe bahut khusi ho rahi hai. Mai apke blog ko roj padhta hoon. mujhe bahot accha lagta hai aapka blog. God bless you. Get more success in your life by grace of god and by your hard work.

    Thanks for sharing your experience.

  14. Pavanji Congratulations for this achievement. Bahot hi accha laga padke. Lekin me manta hu aap abhi aapki job mat chodiye. kyoki Software field bahot hi achi field he. aur isase bhi aap bhot kama rahe honge. Isase aapki safety bhi rahegi aur income bhi aati rahegi.

    Once again Thanks for posting this inspirational article.
    Regards,
    Swapnil Kharche

  15. आपकी सक्सेस स्टोरी पढ़ कर अच्छा लगा और वास्तव में आप उन लोगो के लिए एक महान हस्ती है जो शिक्षित होने के बावजूद कुछ कर नहीं पाते हैं.
    मेरी सोच है की जो लोग अपना रास्ता खुद बनाते है उन्हें कभी भी असलता का मुह नहीं देखना पड़ता.
    धन्यवाद्

  16. Nice sir ,,
    Me bhi ek blogger hun or bloging me ekdum naya hun aaj aapne ye baate btai hai isse koi badle ya na badle par mera faishla aaj badal gaya thanx sir me blogging chhodne wala tha kyunki kabhi kabhi mujhe 1 pageview bhi nhi milte hai. Lekin ab esa nhi hoga ab me apne kaam pe dhyan dunga bus…
    THANKS SIR

  17. Apka story bahut hi motivational hai aapne haar nahi mani. Muje aapse kafi inspiration mili,
    Dhanyawad sath he aapko congratulation ki aapke blog ne 1 lakh page view ko paar kiya.

Close