Essay on Global Warming in Hindi ग्लोबल वार्मिंग- विश्व पर मंडराता खतरा

Global Warming Essay in Hindi

ग्लोबल वार्मिंग(Global Warming) किसी एक व्यक्ति या एक देश की समस्या नहीं है बल्कि आज ये पूरे विश्व की, इस पूरी धरती की सबसे बड़ी समस्या है। अगर ग्लोबल वार्मिंग ऐसे ही बढ़ती रही तो वो दिन दूर नहीं जब पूरी धरती का विनाश हो जायेगा।

आप में से काफी लोग ग्लोबल वार्मिंग के बारे में जानते होंगे लेकिन जो लोग नहीं जानते उनको हम इस लेख में समझाने की कोशिश करेंगे क्यूंकि Global Warming के बारे में हर व्यक्ति को जानना बेहद आवश्यक है।

क्या है ये ग्लोबल वार्मिग?

globalwarmingWhat about global warming? ग्लोबल वार्मिंग का शाब्दिक अर्थ है – धरती का तापमान बढ़ना। सरल शब्दों में कहें तो लगातार प्रदूषण और ग्रीन हॉउस गैस(Green House Gas) की वजह से धरती का तापमान(temperature) लगातार बढ़ रहा है जिसे ग्लोबल वार्मिंग कहते हैं। आज कल हम देख ही रहे हैं कि गर्मी लगातार बढ़ती जा रही है, पुराने समय में इतनी गर्मी नहीं पड़ती थी और सर्दियाँ तो केवल नाममात्र को ही रह गईं हैं और वो दिन दूर नहीं जब पूरी साल केवल गर्मी ही रहा करेगी। ये सब असर है ग्लोबल वार्मिंग का। अब आप समझ गए होंगे कि हमारी धरती तेजी से विनाश की ओर जा रही है।

Main Cause of Global Warming in Hindi?

क्या हैं कारण ग्लोबल वार्मिंग के ?

1. लगातार पेड़ों का काटना

2. ग्रीन हाउस गैस यानि CO2 कार्बन डाई आक्साइड का बढ़ना

3. लगातार बढ़ती जनसँख्या – जनसँख्या के बढ़ने से इंसानों द्वारा छोड़ी गयी कार्बन डाई आक्साइड तेजी से वातावरण में बढ़ रही है

4. CO2 कार्बन डाई आक्साइड सूरज की गर्मी को अवशोषित(absorb) करती है और ये ग्लोबल वार्मिंग का सबसे बड़ा कारण है

5. पेड़ कार्बन डाई आक्साइड को सांस की तरह लेते हैं लेकिन पेड़ कम होते जा रहे हैं इसलिए CO2 वातावरण में ही रह जाती है

6. फैक्ट्रियों का धुंआ, इस धुएं में कार्बन मोनो आक्साइड होता है

7. पर्यावरण में आक्सीजन के घटने की वजह से ओजोन परत(Ozone Layer) कमजोर पड़ती जा रही है

8. ओजोन परत सूरज की गर्मी और परा बैंगनी किरणों से धरती की रक्षा करती है लेकिन पेड़ों के कम होने से ऑक्सीजन घट रही है और ओजोन परत(Ozone Layer) कमजोर पड़ रही है

Global Warming Facts in Hindi

ग्लोबल वार्मिंग के बारे में चौंकाने वाली जानकारियाँ –

Global Warming effects

1. पिछले 25 सालों में धरती का तापमान बहुत ज्यादा बढ़ गया है

2. कार्बन डाई आक्साइड और नाइट्रस आक्साइड अगर लगातार हमारे पर्यावरण में ऐसे ही फैलती रहीं तो मानव जीवन खतरे में पड़ सकता है

3. IPCC की रिपोर्ट में अनुसार इस सदी के अंत तक समुद्र तल 7-23 इंच तक बढ़ जायेगा

4. 1880 के बाद से धरती का तापमान करीब 1.4-Fahrenheit degrees बढ़ चुका है

5. 20 वीं सदी पिछले 400 सालों में सबसे गर्म सदी रही है

6. उत्तरी ध्रुव पर आर्कटिक की पर जमी विशाल बर्फ तेजी से पिघल रही है

7. ये माना जाता है कि आर्कटिक पर इतनी बर्फ जमी हुई है कि अगर वो पिघल जाये तो कई महासागरों से भी ज्यादा पानी निकलेगा। यानि आर्कटिक पर कई महासागरों के बराबर पानी बर्फ में जमा पड़ा है और वो पिघल जाये तो सोचिये क्या होगा ? फिर तो प्रलय आनी ही आनी है

8. 2040 तक आर्कटिक पर जमी बर्फ गर्मियों में पूरी पिघल जाएगी ऐसा अनुमान है

9. 1910 में Montana Glacier National Park में 150 ग्लेसियर थे जिनमें से केवल 25 ग्लेसियर बचे हैं

10. ग्लोबल वार्मिंग बढ़ने से जंगल में आग और तूफान आने का खतरा बढ़ जायेगा

11. हम इंसान जितनी कार्बन डाई आक्साइड छोड़ते हैं, पेड़ कम होने की वजह से उतनी कार्बन डाई आक्साइड ले नहीं पाते और वो वातावरण में ही रह जाती हैं

12. करीब 10 करोड़ लोग दुनियां भर में समुद्र तल के पास रहते हैं अगर समद्र तल बढ़ा तो कितनी सारी जिंदगियां तबाह हो जाएँगी

13. गर्मी से पहाड़ों पर बर्फ पिघलेगी और उसके पानी से बाढ़ और सुनामी आने का खतरा है

14. आपको जानकर हैरानी होगी कि हर सेकेण्ड वातावरण में 1000 tons कार्बन डाई आक्साइड बढ़ जाती है

15. हम इंसान हर साल करीब 37 billion metric tons कार्बन डाई आक्साइड छोड़ते हैं

16. एक रिपोर्ट के अनुसार 2000-2100 तक गर्मी से होने वाली मृत्यु करीब 150,000 तक बढ़ जाएँगी

17. ग्लोबल वार्मिग से ठन्डे प्रदेश भी अब गर्म होते जा रहे हैं

18. पिछले 50 सालों में धरती का तापमान 3% बढ़ चुका है

दोस्तों हमने यहाँ ग्लोबल वार्मिंग और इसके होने वाले दुष्प्रभावों को विस्तार में बताया है और आपको समझाने की भी कोशिश की है ताकि हर इंसान जान सके कि ग्लोबल वार्मिंग कैसे दुनियां के लिए बड़ा खतरा बनती जा रही है।

पेड़ लगाइए क्यूंकि पेड़ ही जीवन हैं किसी ने सही कहा है कि पेड़ ऑक्सीजन देता है फिर भी कोई पेड़ नहीं लगाना चाहता लेकिन अगर पेड़ wifi सिग्नल देता तो सब पेड़ लगाते। कितनी दुःख भरी बात है, हम अपने हाथों से अपनी धरती माता का गला घोट रहे हैं। दोस्तों अपने अपने घरों में कम से कम एक पेड़ जरूर लगाइए और प्रदूषण कम से कम फैलाइये तभी इस धरती को global warming से बचाया जा सकता है।
============================================
एक और नया प्रयास – दोस्तों हिंदीसोच आज एक सफल हिंदी वेबसाइट है। आपने जिस तरह से इस ब्लॉग को सराहा है वो काबिले तारीफ है, आप लोगों का बहुत बहुत धन्यवाद हमने हिंदीसोच की तरह एक नयी वेबसाइट लांच की है – HindimeTech.Com [http://www.hindimetech.com]ये वेबसाइट एक टेक्निकल ब्लॉग है जहाँ SEO और website से सम्बंधित जानकारियाँ publish की जाती हैं। आप लोगों से निवेदन है कि एक बार हमारे नए ब्लॉग को भी visit करें और यहाँ हम आपको technical help provide कराएँगे। SEO और google ranking से सम्बंधित आपके कोई भी question हों तो हमारा HindimeTech.Com ब्लॉग जरूर पढ़िए और अपने question comments में पूछिए, हम आपको solution जरूर देंगे।

धन्यवाद!!!!!! आप अपने कमेंट जरूर करिये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

8 Comments

    1. GURWINDER Ji, Agar aap ek new blog start kar rhe hain to STARTED PLAN se starting kare because ek sath bada plan lene se investment jyada ho jati h. Short plan se starting kare and jarurat ke according aap bad me upgrade kar le

Close