Thunder Lightning Facts in Hindi आकाशीय बिजली कड़कने से जुड़े फैक्ट्स

क्यूँ कड़कती है बिजली ? होती हैं कितनी मौत ?

बारिश के समय में हमने आसमान में कई बार बिजली कड़कते हुए देखी होगी। तेज गरज के साथ जब कभी बिजली कड़कती है तो कई बार डर लगता है कि कहीं बिजली नीचे गिर ना जाये। जी हाँ बिजली गिरने से हर साल काफी लोगों की मौत हो जाती है

आज हम आपको आसमानी बिजली से जुड़े कुछ अदभुत तथ्य बताने वाले हैं। ये बातें आपके काफी काम भी आ सकती हैं क्योंकि जब बिजली गिरती है तो जान माल का बहुत नुकसान हो जाता है। आइये जानें आसमानी बिजली से जुड़े कुछ अदभुत तथ्य –

1. भारत में हर साल बिजली गिरने से 1800 लोगों की मौत हो जाती है

2. आसमान में तापमान बहुत कम होता होता है तो पानी के कण जमकर आवेशित हो जाते हैं कुछ धनावेश और कुछ ऋणावेश और जब से आवेश वाले कण आपस में टकराते हैं तो चिंगारी यानि बिजली पैदा होती है

3. बारिश के समय कभी पेड़ के नीचे ना खड़े हों और ना ही पहाड़ों पर जाएँ ऐसी जगह बिजली जल्दी गिरती है

4. बिजली का तापमान सूरज की सतह के तापमान से पांच गुना ज्यादा होता है

5. बिजली गिरने की संभावना सबसे अधिक दोपहर को होती है

6. बिजली से मरने वालों में 80% पुरुष होते हैं

7. बारिश में नंगे पैर फर्श पर ना खड़े हों

8. आंधी आते ही टीवी, रेडियो, कम्प्यूटर और सभी पावर प्लग निकाल दें

9. बिजली गिरने का सबसे ज्यादा असर सिर, कंधे और गर्दन पर होता है

10. दुनियाभर में हर सेकेण्ड करीब 40 बार बिजली कड़कती है

11. बिजली या लोहे के खम्बे से सटकर खड़े ना हों

12. अमेरिका की स्टेचू ऑफ लिबर्टी पर हर साल कई बार बिजली गिरती है

आपको सलाह यही दी जाती है कि घनघोर बारिश के मौसम में ज्यादा बाहर ना घूमें। मोबाइल या अन्य बिजली उपकरणों का कम से कम प्रयोग करें ताकि कभी बिजली गिरने की सम्भावना ही ना हो।

दोस्तों हिंदीसोच की हमेशा यही पहल रही है कि आप लोगों के लिए प्रेरक कहानियाँ और ज्ञान की बातें शेयर करते रहें। अगर आप चाहते हैं कि ये ज्ञान की बातें प्रतिदिन आपके ईमेल पर भेज दी जाएँ तो आप हमारा ईमेल सब्क्रिप्शन ले सकते हैं इसके बाद आपको सभी नयी कहानियां ईमेल कर दी जाएँगी- Subscribe करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

One Comment

  1. Maine bhi aksar suna he or news papers me bhi pdha he ki bijli girnese kaafi logo ki mout hoti he,aapne jo isse bchneke liye upaay diye he vah kaabile taarif he,maine aapke blog ko sbscribe kiyaa huaa he or isse muje hrroj kuch n kuch nyaa shikhneko nilta he.

Close