Vyang गंभीर व्यंग्य “लोग आपकी गलती का इंतजार करते हैं”

समाज पर एक व्यंग्य

Samaj par vyangएक व्यंग्य- एक बार एक गणित के अध्यापक ने कक्षा में प्रवेश किया और सारे बच्चे उनके सम्मान में कुर्सी से उठ खड़े हुए। अध्यापक आज बड़े खुश नजर आ रहे थे उन्होंने बच्चों से कहा कि आज मैं आपको कुछ नया सिखाऊंगा।

अध्यापक ने ब्लैक बोर्ड पर लिखना शुरू किया –

9×1=7
9×2=18
9×3=27
9×4=36
9×5=45
9×6=54
9×7=63
9×8=72
9×9=81
9×10=90

अब जैसे ही अध्यापक मुड़े तो देखा बच्चे उनकी गलती को देख कर मुस्कुरा रहे थे क्योंकि पहली ही लाइन में उन्होंने गलती कर दी थी। बच्चों को मुस्कुराता देख के अध्यापक बोले कि ये गलती मैंने जान बुझ कर की है और आज मैं तुमको एक बहुत प्रेरक पाठ पढ़ाने वाला हूँ।

मैंने 9 लाइन सही लिखीं लेकिन आप में से किसी ने मेरी प्रशंसा नहीं की लेकिन जैसे ही मैंने एक लाइन गलत लिखी आप सब लोग मेरी हंसी उड़ाने लगे। बच्चों जब तुम सही काम कर रहे होते हो तो कोई तुम्हारी प्रशंसा नहीं करता लेकिन तुम अगर एक भी गलती कर दो तो लोग तुम पर हंसने लगते हैं।

आज कल तो लोग जैसे आपकी गलती का ही इंतजार करते हैं। लेकिन इन सब बातों से आपको अपना आत्मविश्वास नहीं खोना है बल्कि मजबूत मनोबल के साथ आगे बढ़ना है। बच्चों यही इस कहानी की शिक्षा है।

दोस्तों सच तो यह है कि लोग आपके बारे में अच्छा सुनने पर शक करते हैं लेकिन बुरा सुनने पर तुरंत यकीन कर लेते हैं। कई बार कुछ ऐसी किस्से सुनने में आते हैं, 3 दोस्त आपस में बात कर रहे थे –

पहला – यार वो मदन था ना अपना दोस्त, उसकी तो किसी बड़ी कंपनी में जॉब लग गयी उसकी सैलरी भी 50 हजार है
दूसरा – अरे वो झूठ बोल रहा होगा, बड़ी कंपनी में जॉब मिलना उतना आसान नहीं है
तीसरा – अरे कल तो मैंने उसे ऑटो में जाते देखा था अगर 50 हजार सैलरी होती तो गाड़ी में ना जाता,, वो झूठ बोल रहा है

देखा किसी ने यकीन नहीं किया। अब आगे –

पहला – यार वो रवि था ना अपना दोस्त, उसको जॉब से निकाल दिया है
दूसरा – ओह बहुत बुरा हुआ, वैसे रवि थोड़ा technically weak था उसे ज्यादा नॉलेज नहीं थी
तीसरा – हम्म मुझे तो पहले ही पता था वो जॉब नहीं कर पायेगा

देखा सबने यकीन कर लिया। और ये कोई बनायीं हुई बातें नहीं है ये सच्चाई है, मानो या ना मानो………………..

लेकिन जो लोग इस आर्टिकल को पढ़ रहे हैं मैं उन सब लोगों से गुजारिश करूँगा कि अगर कोई मित्र परेशानी में है या किसी से कोई गलती हुई है तो उसकी हंसी ना उड़ाइये। सच मानिये ये सब चीजें इंसान का आत्मविश्वास गिरा देती हैं, दूसरों को नकारात्मक बना देती हैं। आप दूसरों की मदद करिये, दूसरों के अच्छे कामों की प्रशंसा कीजिये, यही इस कहानी की सीख है।

और हाँ, कहानी पढ़ने के बाद कही मत जाइये, नीचे कमेंट बॉक्स में अपना विचार जरूर लिखिए, मैंने अच्छा काम किया है तो मेरी तारीफ कीजिये 🙂 just kidding लेकिन कमेंट करना ना भूलना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

101 Comments

  1. हमलोगों को किसी की गलतियों पर हँसना नही चाहिए

  2. Correct line
    Lever never goes in vain
    So i work daily people what speach no tension………………………………………………………………………………………………………………….,…………………………………………………….

  3. You are doing a fabulous job. Keep it up motivate them.
    I like your post and mostly read by me. but unable to apply in my life.

    Thanks
    Rachna

  4. बहुत ही सीधी और सच्ची बात कही आपने …………………ऐसे ही कहानियों के माध्यम से हमें प्रेरित करते रहे ……….

  5. THANK YOU SO MUCH SIR APPKO
    Aapp bahut achchha story sen ki hai
    Sir ham kisi ki galti par hasi nahi udate hai

  6. Is lekh se un sabhi logo ko shikh leni chahiye jo busre ke har chhoti se chhoti galtiyo ka mjak bnate hai** aap ke lekh ka jitna hi taraph ho o kam hai**

  7. Haan bhai,sach mein aapne is kahani ke madhyam se achha kaam kiya hai.Aapki tarif to karni hi chahiye.

  8. इन बातों को अगर हम अपने जीवन में लागु कर दे तो निश्चिय ही हमारा जीने का तरीका बदल जायेगा।हम एक नई जोश और आत्मविश्वास के साथ अपने लक्ष्य की और आगे बढ़ते रहेंगे ।लोग क्या कह रहे हे इसके परवाह किये बिना।

  9. ये आज की हकीकत है कि हम खुद की गलतियों को नज़रअंदाज कर दूसरों की गलतियां ढूढने में लगे रहते हैं ।काश ! हम दूसरों के अच्छे कामों की तारीफ करें जिससे उसमें कुछ और अच्छा काम करने का जज्बा पैदा हो,जिससे बाकी लोग भी प्रेरणा ले सकें ।

  10. Very very Tanks dear
    बहुत ही प्रेरडा दायक कहानी हे दोस्त
    एसी कहानीयो से लोगो कि जिन्दगी बन जाती हे¡
    Thanks

  11. अछि स्टोरी है ये स्टोरी बहोत ही सच है आज कल सब एसा ही करते है की अगर अछा काम करो तो कोई ध्यान नहीं देता है मगर कुछ गलती करो तो तुर्रंत सबका ध्यान जाता है .अछि जानकारी दी है आपने मज़ा आया इस स्टोरी को पढ़के अगर आप के पास समय हो तो मेरे ब्लॉग को भी पढ़िए गा . में भी प्रेरणादायक प;पोस्ट लिखता हु . thank you

    chalteraho88.blogspot.in

  12. sir aaj apka ye story mera dil chhu liya , mera sath aysa hota h mai mlm company mai kam karta hun , apko bhut bhut dhanywad sir kya apka no mil sakta h sir, ye mera watsapp no h-8864041701 yek bar bat kujye ga sir bye see you bhagwan apko khus rakhe.

  13. जीवन में अगर कुछ अच्छा करना है तो असफलताएँ जरूर मिलती हैं लेकिन हमें उन असफलता से निराश होने की कोई जरूरत नहीं है हमें प्रयास करते रहना है और निश्चित ही एक दिन सफलता जरूर मिलेगी।

  14. Jindgi ke ye wo Schai hai jis pe yakin krna hoga
    App ke is artical me bhut hi gyan bardhak bate hai ,,,
    App Ka ye Articl mujhe bhut hi chha lga .
    ,
    ,
    ,
    Mujhe Khusi hogi Aise ARticks ke Pd Kr Aue Sayad Kosis Karunga Apni Jindgi me in bicharo or in bato ko apnane ki
    ….
    Thank you so Much Mujhe appa ka Articl bahut hi achha laga

  15. hello i am ajay badyal i want particular story on single topic like koshish , shuker karna etc so pls help me to guide from where i can take these at least 5 stories on one topic pls help me …..

  16. Thank you sir aap apna article aise hi likhte rahiye taki ham jaise ladka es tarah ka article padhakar apna gindgi sudhar sake

  17. APKI YE STORY BILKUL SUCH H AISA HI HOTA H HMARI SOCIETY ME APKI STORY SE MUJHE BHUT KUCH SIKHNE KO MILA H THANK U SOO MUCH AND BEST OF LUCK.

  18. Such me ap ne bshot achha samjhaya aj k sanay me kaun hai jo kisi ko batay ya sanajhay.ap k kahani ne .mujhe meri dadi ki yaadye taja kar di.thanks.

  19. Sir bahut hi acha laga muje apki story padh kr mere sath yah reality me hua he ki me logo ko sach batata hu to unhe juth lagta he or wo yakin nhi krte he pr juth pr yakin bhi krte he or burai bhi karte he .
    Thanks guru bahut acha sikhne ko mila aapse
    I m satisfied

Close