Success Life Tips in Hindi

Success Life Tips in Hindi

दीपक जलता हैं, संसार को प्रकाश देता हैं और श्रेय के रूप में सफलता प्राप्त करता है |दीपक की इस सफलता का रहस्य यही तो हैं कि वह अपने तेल तथा बत्ती को तिल-तिलकर जलता रहता हैं |

उसका प्रकाश वस्तुतः उसकी उस निरन्तर, ज्वलनशीलता का ही होता हैं, जिसको वह लौ के रूप में बत्ती से प्रकट करता हैं | दीपक का कर्त्तव्य जलना हैं जिस समय भी वह अपने इस कर्त्तव्य से विरत होकर निष्क्रिय हो जाता हैं, प्रकाश रुपी सफलता उसे दूर चलती जाती हैं वह एक मूल्यहीन मिट्टी के पात्र से अधिक नहीं रह जाता |

इसी प्रकार जो मनुष्य अपने शरीर का सार परिश्रम ताप में खर्च करते हैं, अपनी शक्तिया तथा क्षमाताओं का समुचित उपयोग करते हैं, वे आलोक पाकर कृतकृत्य हो जाते है | सक्रिता ही जीवन हैं और निष्क्रियता ही मृत्यु | श्रम से विरत रहकर आलाश्य अथवा प्रमाद में पड़े रहने वाले मनुष्य को जिव्हित नहीं कहा जा सकता |

मनुष्य परिश्रमी भी है और आत्मविश्वासी भी, किन्तु उसमे जिज्ञासा अथवा लगन कि कमी हैं, तो भी उसका नाम सफल व्यक्तियों कि सूचि में आ सकता कठिन हैं |

जिसमे जिज्ञासा नहीं हैं, वह आगे बढ़ने और ऊपर चढ़ने के लिए उत्साहित ही किस प्रकार हो सकता है ? जिसमे जिज्ञासा हैं और उसे साकार करने के लिए लगनशीलता है, अपने ध्येय, लक्षय तथा उद्देश्य में निष्ठा हैं, वह सलफता जरुर प्राप्त करेंगा |

अपने गुणों के आधार पर श्रेय पथ पर चढ़ने वाले व्यक्ति में यदि निर्भरता कि कमी हैं तो समझ लेना चाहिए कि वह अपने लक्षय तक न पहुँछ सकेगा | भीरु व्यक्ति में आगे बढ़ने का साहस ही नहीं होता | वह पग-पग पर आपत्तियों तथा कठिनाइयों की शंका करता है |

अपने या तो सुना ही होगा कि कुछ जानने कि जिज्ञासा जीते मनुष्य कि पहचान तो दोस्तों, सफलता पाने के लिए महनत करना ही एक इन्शान का उद्देश्य है में जब 10th class में था तब मेरे सर थे जिनका नाम था पुख राज़ जी

इन्होने मुझे एक बात बताई थी कि कोई महनत करना और फल कि चितन न करना ही सफलता है अर्थात मनुष्य को महनत हमेशा करनी चाहिए और फल कि चिंता नहीं करनी चाहिए क्युकी फल तब मिल्गेया जब अपने महनत पुरे मन से कि होगी |

तो दोस्तों ये थी मेरी कुछ बाते जिसे ध्यान में रखे और मुझे आशा हैं की आपको मेरी बातो को कुछ असर हुआ ही होगा तो मेरी post को पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद मेरी पोस्ट इसे ही हर रोज पढ़ते रहे |

और आप चाहे तो मुझसे इस topic के बारे में comment box में discussion कर सकते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

7 Comments

Close