How to Overcome Frustration in Life{in Hindi}

Story on How to Reduce Frustration

Frustrated Business Manये कहानी एक ऐसे व्यक्ति की है जो एक Busniss man था लेकिन उसका business डूब गया और वो पूरी तरह hopeless हो गया। अपनी life से बुरी तरह थक चुका था। अपनी life से frustrate होकर वो suicide करना चाहता था।

एक दिन परेशान होकर वो जंगल में गया और जंगल में काफी देर अकेले बैठा रहा। कुछ सोचकर भगवान से बोला – मैं हार चुका हूँ, मुझे कोई एक वजह बताइये कि मैं क्यों ना हताश होऊं, मेरा सब कुछ खत्म हो चुका है। मैं क्यों ना frustrate होऊं? Please help me God……………………..

भगवान का जवाब/ Answer of God

तुम जंगल में इस घास और बांस के पेड़ को देखो- जब मैंने घास और इस बांस के बीज को लगाया। मैंने इन दोनों की ही बहुत अच्छे से देखभाल की। इनको बराबर पानी दिया, बराबर Light दी।

घास बहुत जल्दी बड़ी होने लगी और इसने धरती को हरा भरा कर दिया लेकिन बांस का बीज बड़ा नहीं हुआ। लेकिन मैंने बांस के लिए अपनी हिम्मत नहीं हारी।

दूसरी साल, घास और घनी हो गयी उसपर झाड़ियाँ भी आने लगी लेकिन बांस के बीज में कोई growth नहीं हुई। लेकिन मैंने फिर भी बांस के बीज के लिए हिम्मत नहीं हारी।

तीसरी साल भी बांस के बीज में कोई वृद्धि नहीं हुई, लेकिन मित्र मैंने फिर भी हिम्मत नहीं हारी।

चौथे साल भी बांस के बीज में कोई growth नहीं हुई लेकिन मैं फिर भी लगा रहा।

पांच साल बाद, उस बांस के बीज से एक छोटा सा पौधा अंकुरित हुआ……….. घास की तुलना में ये बहुत छोटा था और कमजोर था लेकिन केवल 6 महीने बाद ये छोटा सा पौधा 100 फ़ीट लम्बा हो गया।

Bamboo and ferns
Bamboo and Ferns

मैंने इस बांस की जड़ को grow करने के लिए पांच साल का समय लगाया। इन पांच सालों में इसकी जड़ इतनी मजबूत हो गयी कि 100 फिट से ऊँचे बांस को संभाल सके।

मेरे बेटे, जब भी तुम्हें life में तुम्हें struggle करना पड़े तो समझिए कि आपकी जड़ मजबूत हो रही है। आपका संघर्ष आपको मजबूत बना रहा है जिससे कि आप आने कल को सबसे बेहतरीन बना सको।

मैंने बांस पर हार नहीं मानी,
मैंने तुम पर भी हार नहीं मानूंगा,

किसी दूसरे से अपनी तुलना(comparison) मत करो

घास और बांस दोनों के बड़े होने का time अलग अलग है दोनों का उद्देश्य अलग अलग है।

तुम्हारा भी समय आएगा। तुम भी एक दिन बांस के पेड़ की तरह आसमान छुओगे। मैंने हिम्मत नहीं हारी, तुम भी मत हारो……………………..
Dear friends, अपनी life में struggle से मत घबराओ, यही संघर्ष हमारी सफलता की जड़ों को मजबूत करेगा। लगे रहिये, आज नहीं तो कल आपका भी दिन आएगा। यही इस कहानी की शिक्षा है।

ये भी जरूर पढ़े-
सकारात्मक सोच का जादू
कैसे दूर करें Nervousness(नर्वस)
नकारात्मकता से बचने के उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

5 Comments

  1. HINDI SOCH PAR LIKHE LEKH MUJHE BAHUT PASAND HAI AUR YAH WASTAV ME JINDAGI BADAL SAKATE HAI. MAY EK SALAH DENA CHAHATA HU KI IS WEBSITE PAR KUCHH YASE LEKH LIKHE JAY JO KI BAHUT GARIB VYAKTI KE HO JO APNI SANGHRSE KE BAL PAR SAFAL HUA HO .

    1. Dear Dilip yadav, Hindisoch ki hamesha yhi koshish krhi h ki logo ki jyada se jyada help ki jaye, aur aise bhut sare logo ki story hindisoch par hai hai jo pahle bhut gariv the bad me sangharsh karke success hue, aap hindisoch ki story ki puri list – https://www.hindisoch.com/all-hindi-stories-collection/

  2. Aapki stories bahut zada insipiration wali h n Main b khud story likhti hu … ….But Kya main b bej skti agr Haan to kaise…Rply me

Close