संता Hindi Jokes

संता के सिर पर चोट लग गयी तो वो डॉक्टर के पास पट्टी बंधवाने गया। डॉक्टर ने सिर पर पट्टी बांध दी और पूछा कि चोट कैसे लगी?

संता: छोड़ो डॉक्टर साहब लंबी कहानी है।

डॉक्टर: मैं फिर भी सुनना चाहता हूँ।

संता: बात यह है कि पिछले हफ्ते पत्नी मायके गई हुई थी। मैं भी हवा बदलने रविवार को होटल में जा टिका। मेरे बगल के कमरे में एक खूबसूरत औरत थी। रात ग्यारह बजे उसने दरवाजा खटखटाया और माफी मांगते हुए कहा कि उसे ठंड लग रही है

अगर मैं कुछ मदद कर सकूं तो वह आभारी रहेगी। मैंने एक कम्बल दे दिया। थोड़ी देर बाद वह फिर आ गई और वही शिकायत करने लगी। मैंने उसे अपना ओवरकोट दे दिया।

आज जब मैं हथौड़ी से कील ठोंक रहा था तो अचानक मुझे समझ में आया कि उस दिन वह क्या चाह रही थी और बस, मैंने हथौड़ी अपने सिर पर दे मारी।

**************************

santa ke sir par chot lag gayi to vo doktar ke paas patti bandhavaane gaya. doktar ne sir par patti baandh di aur poochha ki chot kaise lagi?

santa: chhodo doktar saahab lambi kahaani hai.

doktar: main phir bhi sunana chaahata hoon.

santa: baat yah hai ki pichhale haphte patni maayake gai hui thi. main bhi hava badalane ravivaar ko hotal mein ja tika. mere bagal ke kamare mein ek khoobasoorat aurat thi. raat gyaarah baje usane daravaaja khatakhataaya aur maaphi maangate hue kaha ki use thand lag rahi hai agar main kuchh madad kar sakoon to vah aabhaari rahegi. mainne ek kambal de diya. thodi der baad vah phir aa gai aur vahi shikaayat karane lagi. mainne use apana ovarakot de diya.

aaj jab main hathaudi se kil thonk raha tha to achaanak mujhe samajh mein aaya ki us din vah kya chaah rahi thi aur bas, mainne hathaudi apane sir par de maari.