अब्दुल कलाम की विशेषताएँ जो उनको महान बनाती हैं

आज 15 अक्टूबर यानि कलाम जी के जन्मदिवस पर हम अब्दुल कलाम की विशेषताएँ आपको बताते हैं| उनके जीवन की वो बातें जो उनको महान और विशेष बनाती हैं| अब्दुल कलाम आज करोड़ों युवाओं के लिए प्रेरणा के स्रोत हैं| उनके जीवन की शिक्षायें और उनकी कही हुई अदभुत बातें युवा पीढ़ी को सदा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती रहेंगी| आइये आज हम कलाम जी की कुछ ख़ास बातों को स्मरण करते हैं –

Sir Abdul Kalam Ajad Photo

1. अब्दुल कलाम 15 अक्टूबर 1931 को एक मुस्लिम परिवार में पैदा हुए थे| उनके पिता जैनुलाबदीन एक मल्लाह थे| कलाम जी का जीवन बेहद गरीबी और संघर्ष भरा रहा था|

2. पिता की कमाई से घर चलाना मुश्किल था इसलिए अब्दुल कलाम बचपन में सुबह अख़बार बांटने जाया करते थे इसके बाद स्कूल पढ़ने जाया करते थे|

3. कलाम शुरुआत से ही बहुत मेहनती थे, पढाई में घंटों गहन अध्ययन करते रहते थे|

4. उनके सबसे प्रिय विषय गणित और फिजिक्स थे, बाद में aerospace इंजीनियरिंग में उन्होंने अपना कैरियर भी बनाया

5. Ballistic Missile और launch vehicle टेक्नोलॉजी पर महवत्पूर्ण कार्य करने और उसे सफल बनाने पर कलाम जी को मिसाइल मैन के नाम से जाना जाने लगा

6. अब्दुल कलाम को विज्ञान के क्षेत्र में उनके योगदान की सहराना करते हुए उन्हें पद्म भूषण, पद्म विभूषण और भारत रत्न की उपाधि से नवाजा गया|

7. अब्दुल कलाम को दुनिया भर की करीब 40 यूनिवर्सिटी ने अपनी डिग्री प्रदान दी|

8. कलाम जी ने अपने जीवन के अनुभवों आधार बनाकर 15 पुस्तकें भी लिखीं जिनमें उन्होंने न्यूक्लियर टेक्नोलॉजी से लेकर आध्यात्म तक के विषयों पर चर्चा की है|

9. अब्दुल कलाम की आत्मकथा – “Wings of Fire: An Autobiography” सबसे पहले अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित हुई| यह इतनी लोकप्रिय हुई कि इसका 13 अलग-अलग भाषाओं में भी प्रकाशित किया गया जिनमें फ्रेंच और चाइनीस भी शामिल हैं|

10. 2011 में “I Am Kalam” नाम की फिल्म भी कलाम जी के जीवन से प्रभावित होकर ही बनाई गयी यही जिसका निर्देशन Nila Madhab Panda ने किया था|

11. 25 July, 2002 को अब्दुल कलाम जी को उनके विचारों और प्रतिभाओं से प्रभावित होकर भारत का राष्ट्रपति चुना गया| कलाम जी को “People’s President” के नाम से जाना जाता था|

12. कलाम एक समय भारतीय एयर फ़ोर्स में “फाइटर पायलट” बनने से चूक गए थे| मेरिट लिस्ट में उनका नौवां नंबर आया था और वेकेंसी केवल 8 ही थीं और शुरुआत के सभी आठों लोगों को चुन लिया गया था|

13. अब्दुल कलाम 1960 में DRDO’s Aeronautical Development Establishment से जुड़े|

14. एक बार किसी पत्रकार ने जब कलाम जी से पूछा कि आप किस रूप में पहचाने जाना चाहते हैं – “एक राष्ट्रपति के रूप में, एक वैज्ञानिक के रूप में या एक शिक्षक के रूप में” तो कलाम जी ने कहा था कि मैं सर्वप्रथम एक “शिक्षक” के रूप में पहचाना जाना चाहता हूँ|

15. कलाम जी की Switzerland यात्रा के बाद, Switzerland में उनकी जन्मतिथि को “विज्ञान दिवस” के रूप में मनाया जाता है|

16. अब्दुल कलाम ने तमिल भाषा में कई कवितायेँ भी लिखी हैं और वह वीणा बजाने में भी काफी निपुण थे|

17. अब्दुल कलाम मुस्लिम होने के बाद भी शुध्द शाकाहारी थे|

18. कलाम साहब देश के पहले अविवाहित राष्ट्रपति और वैज्ञानिक थे|

19. अब्दुल कलाम ने ट्विटर पर मात्र 38 लोगों को फॉलो कर रखा था जिनमें भारत के क्रिकेटर “वी वी एस लक्ष्मण” भी थे|

20. अब्दुल कलाम जी का पूरा नाम “अबुल पकिर जैनुलाअबदीन अब्दुल कलाम” है|

21. अब्दुल कलाम जी के नेतृत्व में ही भारत का पहला उपग्रह SLV-3 प्रक्षेरपास्त्र बनाया गया जिसका श्रेय कलाम जी को जाता है|

22. 27 जुलाई 2015 को भारत माँ के इस सपूत का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया| भारत ही नहीं अपितु पूरे विश्व को उनके निधन से जो क्षति हुई है उसकी क्षतिपूर्ति करना संभव नहीं है|

कलाम जी आज भी देश के सबसे बड़े वैज्ञानिक के रूप में जाने जाते हैं| अपने जीवन के संघर्षों और सफलताओं से कलाम जी हमेशा युवा पीढ़ी का मार्गदर्शन करते रहेंगे|

अब्दुल कलाम जी को शत शत नमन…

ये भी पढ़ें-
अब्दुल कलाम के अनमोल विचार
शिक्षक दिवस पर 5 कविताएं
सफलता की कुंजी अब आपके हाथ में
ऑटो चलाने वाले की बेटी करोड़पति कैसे बनी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Close