जिंदगी बदलने वाली कहानियां=>यहाँ क्लिक करें

कर कुछ ऐसा कि दुनिया बनना चाहे तेरे जैसा

आज मैं आपको कोई कहानी नहीं सुनाने वाला हूँ बल्कि आपसे एक सवाल पूछना चाहता हूँ। सभी के घरों में बच्चे होते हैं और इन बच्चों से सबसे ज्यादा पूछा जाने वाला सवाल पता है क्या है ? बेटा तुम बड़े होकर क्या बनना चाहते हो? ये बच्चों से सबसे ज्यादा पूछा जाने वाला सवाल है।

यक़ीनन आपके भी बच्चे होंगे और बच्चे नहीं तो छोटे भाई या बहन या कोई भी……..

जब एक पिता अपने बच्चे से पूछता है कि बेटा तुम बड़े होकर क्या बनना चाहते हो? तो 99% बच्चों का जवाब होता है –

मैं बिल गेट्स जैसा बनूँगा
मुझे मार्क जुकरबर्ग जैसा बनना है
मुझे टाटा बिड़ला बनना है
मुझे सचिन तेंदुलकर जैसा बनना है……. आदि

लेकिन जरा गौर से सोचिये आपका बच्चा बिल गेट्स या सचिन तेंदुलकर जैसा बनना चाहता है पर आपके जैसा क्यों नहीं ? आपका बच्चा उन लोगों जैसा बनना चाहता है जिन्हें वो ठीक से जानता भी नहीं बल्कि आप हमेशा अपने बच्चों के साथ रहते हैं लेकिन फिर भी 99% बच्चे कभी ये नहीं बोलते कि पापा मैं आपके जैसा बनना चाहता हूँ, कभी सोचा है क्यों ?

क्यूंकि आपने अपने बच्चों को केवल पाला है उनके सामने एक अच्छे इंसान होने का उदहारण कभी पेश नहीं किया, शायद आपने जीवन में कुछ बड़ा नहीं किया।

काश आपने भी अपने जीवन को कुछ अलग अंदाज से जिया होता…
काश आप भी एक सफल इंसान होते….
काश ये दुनिया आपकी फैन होती….
काश आपने जीवन में सफलता की बुलंदियों को छुआ होता…..

kar-kuch-aisa-ki-duniya-banna-chahe-tere-jaisa

तो आज जब आप अपने बच्चे से पूछते कि बेटा तुम कैसे बनना चाहते हो ? तो बच्चे का जवाब होता – पापा आपके जैसा ……..

दोस्तों क्यों ना हम लोग भी कुछ बड़ा करें, अपनी आने वाली पीढ़ी के सामने एक उदाहरण पेश करें जिससे आपके बच्चे किसी और के नहीं बल्कि आपके खुद के फैन हों। अपने जीवन को केवल जियो मत बल्कि बल्कि भरपूर जियो, खूब मेहनत करो, हमें तो आसमां की बुलंदियों को छूना है।

सोचिये कितना गर्व महसूस होगा जब आपके छोटे भाई बहन या आपके बच्चे दूसरे लोगों को आपकी मिसाल देंगे आपके जैसा बनने की कोशिश करेंगे। तो चलिए आज ही से कुछ बड़ा करने की कोशिश करिये और नीचे कमेंट करके हमें बताइए कि ये लेख आपको कैसा लगा ? छोटा जरूर है लेकिन ये लेख बहुत गंभीर है इसे गहराई से सोचना…….

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten − two =

67 Comments

  1. bijendra singh
  2. Anil Jonwal
  3. Deep nimran
  4. Mohit Kumar